Illegal mining happening at night, Illegal mining happening at night Illegal mining happening at night, Illegal mining happening at night
BREAKING NEWS
Search
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

सीएम के अदेशों की उड़ रही धज्जियां,रात के समय हो रही अवैध माइनिंग

445

Pthankot News: Illegal Mining: जिला पठानकोट में क्रशर इंडस्ट्री पूरी तरह से मरणासन्न अवस्था में पहुंच चुकी है। रही-सही कसर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की सर्जिकल स्ट्राइक ने पूरी करके रख दी है। कीडिय़ां स्टोन क्रशर यूनियन ने 2 दिन पहले ही सरकार की नीतियों के चलते स्ट्राइक पर जाने का निर्णय लिया था जिसमें लगभग 90 प्रतिशत क्रशरों पर पूरी तरह से काम ठप्प हो गया।

 

कीड़ी क्रशर यूनियन के प्रधान सुरेन्द्र सिंह पप्पू के नेतृत्व में इस इंडस्ट्री को बचाने के लिए संघर्ष का बिगुल बजाया था। क्रशर इंडस्ट्री से जुड़े सभी लोग जिला प्रशासन और पुलिस के उच्चाधिकारियों को भी मिल रहे हैं तथा अपनी व्यथा सुना रहे हैं। करोड़ों रुपए व्यय करके स्थापित इंडस्ट्री पूरी तरह से भय के साए में चल रही है और इंडस्ट्री के मालिक माइनिंग विभाग तथा पुलिस के भय से कई मानसिक और शारीरिक बीमारियों का शिकार हो गए हैं। दूर-दूर तक उन्हें कोई समाधान नजर नहीं आ रहा, परंतु अभी भी लगभग एक दर्जन दबंग क्रशर ऐसे हैं, जहां अवैध माइनिंग धड़ल्ले से हो रही है। उनकी मशीनें रात को खड्डों में जाती हैं और खनन करके रॉ मैटीरियल क्रशरों पर आता है और ऐसे दबंग मालिकों को कोई हाथ भी नहीं लगाता।

 

इस संबंध में जब थोड़ी छानबीन की गई तो यह तथ्य सामने आया कि इन अवैध माइनिंग करने वाले दबंग क्रशरों पर माफिया का हाथ है। इन्हें हर बात की सूचना पहले ही पहुंच जाती है। जैसे ही कार्रवाई होनी होती है, तो यह अपनी मशीनें दरिया से निकालकर अपने निर्धारित स्थानों में छुपा लेते हैं। वहीं एक ओर सैंकड़ों क्रशर बंद पड़े हैं उनको रोजी-रोटी के लाले पड़ गए हैं, बैंकों का ब्याज दिया नहीं जा रहा, लेबर काम से भागनी शुरू हो गई है। कई माह के वेतन की देनदारी है। दूसरी ओर यह दबंग क्रशर वाले सरेआम लाखों रुपए प्रतिदिन कमा रहे हैं।

News Source : http://www.punjabkesari.in




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *