अन्ना की भूख हड़ताल का सातवां दिन, घटा 5.5 किलो वजन - AZAD SOCH अन्ना की भूख हड़ताल का सातवां दिन, घटा 5.5 किलो वजन - AZAD SOCH
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

अन्ना की भूख हड़ताल का सातवां दिन, घटा 5.5 किलो वजन

341

-सरकार से नाराज रालेगणसिद्दी के 50 लोगों ने दी आत्‍मदाह करने की धमकी

नई दिल्ली । सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल का आज सातवां दिन है। भूखे रहने की वजह से उनका वजन अब तक 5.5 किलो कम हो चुका है। उधर अन्ना हजारे के गांव रालेगणसिद्दी के लोग मोदी सरकार से बेहद नाराज हैं। इस गांव के 50 लोगों ने आत्मदाह करने की धमकी दी है।

इधर, दिल्ली में डॉ. धनंजय पोते ने बताया कि अन्ना की स्थिति बेहद चिंताजनक है। उन्होंने कहा अन्ना को ज्यादा से ज्यादा पानी पीने और आराम करने की सलाह दी गई है। बता दें कि अन्ना केन्द्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्तों की नियुक्ति सहित अपनी विभिन्न मांगों को लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में 23 मार्च से भूख हड़ताल पर हैं।

उनके 2011 के आंदोलन के कारण लोकपाल और लोकायुक्त कानून 2013 पारित हुआ था। लेकिन केन्द्र की मोदी सरकार ने अब तक लोकपाल की नियुक्त नहीं की है। जबकि इस बार अन्ना सरकार से किसानों के लिए बेहतर न्यूनतम समर्थन मूल्य की भी मांग कर रहे हैं। वह कृषि पर स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने के अलावा केन्द्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्तों की नियुक्ति की मांग पर जोर दे रहे हैं।

अन्ना का 2011 का आदोलन ऐतिहासिक रहा था। जनलोकपाल को लेकर हुए इस आंदोलन में कर्नाटक के पूर्व लोकायुक्त संतोष हेगडे, आर्य समाज के नेता स्वामी अग्निवेश, अरविंद केजरीवाल, किरण बेदी, प्रशांत भूषण और योगेन्द्र यादव जैसे तमाम लोग शामिल हुए थे। बाद में स्वामी अग्निवेश आंदोलन से अलग हो गए थे, क्योंकि उन पर कांग्रेस के नेतृत्व वाली तत्कालीन सरकार से मिलीभगत करने का आरोप लगा था। अरविंद केजरीवाल, प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने आम आदमी पार्टी का गठन कर लिया, जिससे अलग होकर बाद में प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने स्वराज अभियान नामका अलग दल बना लिया। ये सभी लोग अन्ना के वर्तमान आंदोलन में शामिल नहीं हैं।

हालांकि सरकार पर्दे के पीछे से अन्ना का अनशन खत्म कराने की कोशिश कर रही है। लेकिन वह उनकी उपेक्षा भी कर रही है। इससे रालेगणसिद्दी के लोग नाराज हैं। वहां के 50 लोगों ने सामूहिक आत्‍मदाह की धमकी दी है। इन लोगों ने धमकी दी है कि वह यादव बाबा मंदिर के बाहर अपने आपको आग लगा लेंगे। इस धमकी के बाद प्रशासन ने अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए कमर कस ली है और भारी पुलिस बल और फायर ब्रिगेड की गाड़ी को गांव में तैनात कर दिया गया है।
राजेन्द्र, ईएमएस, 29 मार्च-2018




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *