Doctors will look at Biometric Attendance in Punjab : Brahma Mahindra Doctors will look at Biometric Attendance in Punjab : Brahma Mahindra

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

डॉक्टरों की लगेगी बायोमेट्रिक हाजिरी: ब्रह्म महिंद्रा

247

जालंधर: स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म महिंद्रा ने कहा कि राज्य में 22 जिलों के सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों की अब Biometric attendance लगवाई जाएगी। मोहिंद्रा ने स्थानीय सिविल अस्पताल में पत्रकारों से कहा कि सरकारी अस्पतालों के डॉक्टरों के गैरहाजिर रहने की उन्हें बहुत शिकायतें मिल रहीं थी।

उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार ने अब सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की हाजिरी के लिए biometric-attendance सिस्टम लगाने शुरू कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि हाजिरी सिस्टम 18 मई से शुरू हो जाएगा। इस सिस्टम की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे है जिन पर लगभग 22 लाख रूपए खर्च होंगे।

मोहिंद्रा ने बताया कि जालंधर सिविल अस्पताल में जले हुए रोगियों के इलाज के लिए 20 बिस्तर क्षमता का बर्न यूनिट स्थापित किया जाएगा जिनमें से चार बेड क्रिटिकल तथा अन्य 16 बेड जरूरत अनुसार प्रयोग किए जा सकेंगे। यह बर्न यूनिट तीन महीनों में बन कर तैयार हो जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए 306 नए डॉक्टरों को भर्ती किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला परिषद में तैनात डॉक्टरों को पीसीएमएस काडर में शामिल करने के लिए पब्लिक सर्विस कमीशन के नियमों अनुसार डॉक्टरों को आवेदन करने के लिए कहा गया था।

उन्होंने बताया कि अब तक चार सौ डॉक्टरों ने पीसीएमएस में शामिल होने के लिए आवेदन किया है जिनमें से 92 डॉक्टरों की औपचारिकताएं पूरी हो गई हैं तथा यह जल्दी ही ड्यूटी ज्वाइन कर लेंगे। मोहिंद्रा ने बताया कि राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में गुर्दा रोगियों के लिए डायलिसिस और तपेदिक आदि की जांच नि:शुल्क की जा रही है। उन्होंने बताया कि तपेदिक के रोगियों के लिए विशेष रूप से तैयार पंजीरी दी जाएगी ताकि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ सके। उन्होंने बताया कि बढ़ रही तनाव की समस्या का अध्ययन करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन का दल पंजाब आया था और अब राज्य में इस समस्या के निवारण के लिए जल्दी ही योजना बनाई जाएगी।

 

उन्होंने बताया कि चुनाव दौरान किए गए वायदे अनुसार पंजाब में पांच मेडिकल महाविद्यालय खोले जाएंगे। केन्द्र सरकार ने मोहाली में मेडिकल कॉलेज खोलने की मंजूरी दे दी है तथा इस पर कार्य शुरू होने वाला है। यह कॉलेज 2020 तक कार्य करना शुरू कर देगा। राज्य के सरकारी अस्पतालों में दवाइयों की कमी संबंधी सतर्कता विभाग की रिपोर्ट के बारे में पूछ जाने पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इसकी जांच करने के लिए उन्होंने एक तीन सदस्यीय समिति का गठन कर दी है तथा एक महीने के भीतर इसकी रिपोर्ट आ जाएगी।

उन्होंने कहा कि दवाइयों की कमी को दूर करने के लिए स्टाकिस्टों की संख्या तीन से बढ़ा कर पांच कर दी गई है। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों के लिए वह जल्दी ही यूनिवर्सल हेल्द इंश्योरेंस शुरू करेंगे जिसके तहत सभी लोगों को कवर किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य में जल्दी ही चार ट्रामा सेंटर स्थापित किए जाएंगे जिसके लिए बजट में प्रावधान रखा गया है। भारतीय जनता पार्टी द्वारा कांग्रेस पर संसद नहीं चलने देने के आरोप संबंधी पूछने पर श्री मोहिंद्रा ने कहा कि संसद सत्र को चलाना सरकार का कार्य होता है जिसे भाजपा ठीक से नहीं चला पाई। उन्होंने कहा कि इसमें कांग्रेस का कोई दोष नहीं है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *