Gurjant funding from Australia to support Khalistan supporter in Faridkot Gurjant funding from Australia to support Khalistan supporter in Faridkot
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Lashkar-e-Taiba

फरीदकोट में पकडे गए खालिस्तान समर्थक युवको को अाॅस्ट्रेलिया से गुरजंट ने की फंडिंग

461

Khalistan Supporter arrested in faridkot

Faridkot: फरीदकाेट पुलिस ने Khalistan supporter 2 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार कर उनसे दो पिस्तौल और 40 गोलियां बरामद कीं। पकड़ा गया संदीप सिंह बठिंडा जिले के गांव बंगी निहाल का है जबकि अमर सिंह हरियाणा के सिरसा जिले के गांव चट्‌ठा का रहने वाला है। पुलिस पूछताछ में दोनों ने सोशल मीडिया के माध्यम से खालिस्तानी लहर फिर सक्रिय करने की कोशिश कर रहे विदेशी खालिस्तानियों के संपर्क में आने की बात कबूल की है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

दो 32 बोर की पिस्तौल और जिंदा 40 कारतूस बरामद

फरीदकाेट पुलिस एसएसपी फरीदकोट डाॅ. नानक सिंह ने बताया कि गुरुवार को थाना सिटी कोटकपूरा पुलिस काे बठिंडा-अमृतसर हाईवे पर कोटकपूरा और फरीदकोट के बीच एक स्कार्पियो गाड़ी से मोटरसाइिकल के टकराने की सूचना मिली। पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो घायल हुए बाइक सवार वहां से भागने की कोशिश करने लगे। पुलिस को इन पर संदेह हुआ तो दोनों को हिरासत में ले लिया। तलाशी लेने पर उनके पास से दो 32 बोर की पिस्तौल और जिंदा 40 कारतूस बरामद हुए।

आरोपियों ने माना : टारगेट किलिंग के लिए मिले थे पैसे

– पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने माना कि हथियार विदेश में बैठकर देश विरोधी गतिविधियां चला रहे खालिस्तानी समर्थकों ने टारगेट किलिंग के लिए उपलब्ध करवाए हैं।

– उनका कनेक्शन आस्ट्रेलिया से आतंकवादी गतिविधियां चला रहे व टारगेट किलिंग के मामले में मई 2017 में पुलिस जांच के घेरे में आए गुरजंट सिंह से है।

– गुरजंट सिंह आस्ट्रेलिया से विदेशी खालिस्तानी एजेंसियों को वित्तीय सहायता उपलब्ध करवा रहा है और जनवरी 2016 से लेकर अक्टूबर 2017 के बीच हुए टारगेट किलिंग के 8 मामलों में भी उसकी संलिप्तता थी।

सोशल मीडिया और एनक्रिप्ट वीओआईपी काल से संपर्क में रहते थे

पूछताछ के दौरान इन व्यक्तियों ने खुलासा किया कि वह संचालकों के साथ सोशल मीडिया और एनक्रिप्ट वीओआईपी काल द्वारा संपर्क में रहते थे। उनके संचालकों द्वारा निर्धारित लक्ष्यों के सुनियोजित कत्ल करने का काम सौंपा जाता था। वह गुरजंट सिंह के संपर्क में थे जो फेसबुक पर अपनी कट्टड़पंथी सरगर्मियों के कारण ध्यान में आया था।

कीर्तन के लिए पंजाब का आदमी ले गया था साथ

गांव के लोगों ने बताया कि 50 साल के अमर सिंह को 8 मई को पंजाब के मंगी गांव का एक आदमी कीर्तन में जाने की बात कहकर ले गया था। वह मिलनसार आदमी है।

सख्ती से हो रही पूछताछ कई खुलासों की उम्मीद

एसएसपी डाॅ. नानक सिंह ने बताया कि इन दाेनों आरोपियों पर मामला दर्ज कर उनसे गहन पूछताछ की जा रही है व इनसे कई अन्य मामलों का सुराग मिलने की संभावना है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *