swami Vivekananda Motivational Context about Life Troubles swami Vivekananda Motivational Context about Life Troubles
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
swami Vivekananda Motivational Context

जीवन में है बड़ी से बड़ी परेशानी तो करें चुटकी में हल

474

स्वामी विवेकानंद  कई ऐसे प्रसंग जिन में सुखी और सफल जीवन के हैं सूत्र

 swami Vivekananda Motivational Context life troubles- जीवन में मुसीबतों का आना-जाना लगा रहता है। कुछ लोग मुसीबतों से घबराते हैं और इनसे बचने की कोशिश करते हैं। ऐसे में मुसीबत तो दूर नहीं होती, बल्कि परेशानियां और अधिक बढ़ जाती हैं। यहां जानिए स्वामी विवेकानंद से संबंधित एक चर्चित प्रसंग, इस प्रसंग में ये बताया गया है कि जब मुसीबत आ ही जाए तो क्या करना चाहिए…

स्वामी विवेकानंद प्रेरक प्रसंग –

swami Vivekananda Motivational Context life troubles

– स्वामी विवेकानन्द मां दुर्गा के मंदिर से निकल रहे थे कि तभी वहां मौजूद बहुत सारे बंदरों ने उन्हें घेर लिया। बंदर स्वामीजी से प्रसाद छिनने लगे और स्वामीजी को डराने लगे।

– स्वामीजी भी बहुत डर गए और खुद को बचाने के लिए भागने लगे। सभी बंदर भी उनके पीछे-पीछे दौड़ने लगे।

– वहीं एक वृद्ध संन्यासी भी थे जो यह सब देख रहे थे। वृद्ध संन्यासी ने स्वामीजी को रोका और कहा- ‘रूको। डरो मत, उनका सामना करो।‘

– वृद्ध संन्यासी की बात सुनकर स्वामीजी बंदरों के ओर बढ़ने लगे। जैसे स्वामीजी बंदरों की ओर बढ़ने लगे तो सभी बंदर वहां से भाग गए। उन्होंने वृद्ध संन्यासी को धन्यवाद दिया।

– स्वामीजी को को इस घटना से गंभीर सीख मिली थी। बहुत समय बाद उन्होंने एक व्याख्यान में इस घटना का जिक्र भी किया और कहा- ‘यदि हम कभी किसी चीज से डरते हैं, तो उससे भागना नहीं चाहिए, पलटकर उसका सामना करना चाहिए।‘

-अगर आप स्वामी विवेकानंद के इस प्रसंग को अपनी लाइफ में फॉलो करते हैं तो आप भी बड़ी-बड़ी परेशानियों को और डर को दूर कर सकते हैं।

English Version  : swami Vivekananda Motivational Context life troubles

Swami Vivekananda was coming out from the temple of Durga, only then many monkeys present there surrounded him.

The monkey began to snap offerings from Swami ji and began to scare Swamiji. – Swamiji also became very scared and ran away to save himself. All monkeys also start running behind them.

There was also an old sannyasi who was looking at all this. Old Saints stopped Swami ji and said – ‘Wait. Do not be afraid, face them. ‘

Swamiji started moving towards monkeys after listening to the old monk. As Swamiji started moving towards monkeys, all the monkeys escaped from there.

He thanked the old sanyasi. – Swamiji got serious lessons from this incident. After a long time, he also mentioned this incident in a lecture and said, “If we ever fear anything, then we should not run away from it, we should face it again.”

Our opinion

If you follow this episode of Swami Vivekananda in your life, then you too can overcome big problems and overcome fear.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *