AAP Sangrur : Khaira की बैठक में जमकर धक्का-मुक्की AAP Sangrur : Khaira की बैठक में जमकर धक्का-मुक्की
BREAKING NEWS
Search
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
AAP Sangrur

AAP Sangrur – Khaira की बैठक में जमकर धक्का-मुक्की

198

Sangrur : AAP Sangrur Bhagwant Mann के गढ़ Sangrur में Aam Aadmi Party से नाराज वर्करों के साथ Sukhpal Khaira की बैठक में खैहरा समर्थकों और मान समर्थकों में जमकर धक्का-मुक्की हुई। खैहरा समर्थकों ने मान के विरुद्ध नारे लगाए तो मान समर्थकों ने खैहरा के विरुद्ध नारेबाजी की। ऐसे में खैहरा समर्थकों ने मान वर्करों को धक्के मार बैठक से बाहर कर दिया। खैहरा ने आरोप लगाया कि मान के इशारे पर माहौल खराब करने का प्रयास किया गया है।

AAP SANGRUR

खैहरा ने कहा, उन्होंने साथी विधायकों के साथ पार्टी को मजबूत करने का बीड़ा उठाया है। उन्होंने Delhi Leadership की आलोचना करते कहा कि आप अकेली पहली पार्टी है जिसने Punjab में अपनी हार की समीक्षा तक नहीं की है। यदि समीक्षा की जाती तो दिल्ली वालों के चेहरे बेनकाब हो जाते। जो पार्टी 17 महीनों से वेंटीलेटर पर थी, उसमें Bathinda Convention से वर्करों में नया जोश आया है। MP Bhagwant Mann भी Bathinda Convention के बाद से अधिक एक्टिव हुए हैं और अब उन्हें पार्टी से निकालने की बात कर रहे हैं। इस दौरान बैठक में शामिल भदौड़ से आप के विधायक Pirmal Singh Khalsa  ने घोषणा की कि Sangrur में जिला स्तर AAP SAngrur की कन्वेंशन 17 सितंबर को की जाएगी।

 Indepal Singh Khalsa को बोलने देने से बिगड़ा माहौल 

बताते हैं कि बैठक के दौरान मान समर्थक AAP Sangrur के फाउंडर सदस्य इन्द्रपाल सिंह खालसा ने बोलने का समय मांगा तो खैहरा ने हामी भर दी। जैसे ही खालसा ने बोलना शुरू किया तो वर्करों ने नाराजगी प्रगट करनी शुरू कर दी। बैठक में हलचल देख खैहरा ने वर्करों से पूछा कि खालसा को बोलने दिया जाए या नहीं तो वर्करों ने मना कर दिया। इस पर दोनों तरफ से नारेबाजी होनी शुरू हो गई।

खैहरा वर्करों को तोड़ने से बाज आएं : Harpal Cheema

इधर, विपक्ष के नेता Harpal Cheema ने कहा कि खैहरा वर्करों को तोड़ने की बजाय जोड़ने का काम करें। पार्टी वर्करों को एक-दूसरे से लड़ाकर खैहरा गलत काम कर रहे हैं। यदि खैहरा अपनी हरकतों से बाज नहीं आए तो पार्टी कार्रवाई करने पर मजबूर होगी।
कैप्टन मिले हुए हैं बादलों से

खैहरा ने कहा कि Justice Ranjit Singh Commission  की जांच रिपोर्ट पर बहस के दौरान सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने झोली कर मुख्यमंत्री से मांग की थी कि रिपोर्ट के आधार पर तुरंत कार्रवाई की जाए परंतु मुख्यमंत्री ने कोई कदर नहीं की। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री की बादलों के साथ मिलीभगत है। इस कारण बेअदबी मामले को लटकाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने ऐलान किया कि 1 सितंबर को पंजाब भर में सिख कौम के गद्दार बादलों के पुतले फूंक कर प्रदर्शन किए जाएंगे।

सरकार को 40 दिन का अल्टीमेटम

खैहरा ने कहा कि अगले सप्ताह पंजाब के सभी संगठनों से विचार विमर्श कर पंजाब सरकार को 40 दिन का अल्टीमेटम दिया जाएगा कि पूर्व CM Parkash Singh Badal पूर्व उपमुख्यमंत्री Sukhbir Badal, पूर्व DGP Sumesh Saini और डेरा सिरसा मुखी को बाजाखाना पुलिस थाने में दर्ज किए केस में नामजद कर गिरफ्तार किया जाए। यदि ऐसा न किया गया तो पंजाब में बड़ा एक्शन प्रोग्राम बनाया जाएगा।

AAP Sangrur 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *