Honeypreet करेगी जेल से ही फ़ोन , जानिए कौन दे रहा है उसको यह सुविधा Honeypreet करेगी जेल से ही फ़ोन , जानिए कौन दे रहा है उसको यह सुविधा

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
honeypreet

हनीप्रीत करेगी जेल से ही फ़ोन , जानिए कौन दे रहा है उसको यह सुविधा

130

Chandigarh. Panchkula में दंगे भड़काने की आरोपी Ambala Central Jail में बंद Dera Sacha Sauda मुखी गुरमीत सिंह की गोद ली बेटी Honeypreet को दूसरे कैदियों की तरह कॉलिंग की सुविधा मिलेगी। यह सुविधा देने की मांग वाली याचिका को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया है।

ये भी पढ़ें :GABHRU NU TARSENGI LYRICS Jordan Sandhu

Honeypreet ने मांग की थी कि बाकी कैदियों की तरह उन्हें भी इन Met Calling Service का लाभ दिया जाए, ताकि वह अपने संबंधियों व वकील से बात कर सके। उनकी मांग को पहले जेल अथॉरिटी और फिर Additional Sessions Judge की कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

Honeypreet के वकील ने कहा कि इस सुविधा के तहत जेल Authority Pre-Verify Numbers पर कैदी को 5 मिनट बात करने के लिए देते हैं।

7 जून 2018 को Panchkula Court ने हनीप्रीत की नियमित जमानत याचिका खारिज कर दी थी। Haryana Police की Special Investigation Team (एसआईटी) ने पंचकूला हिंसा को लेकर दंगों की आपराधिक साजिश रचने व देशद्रोह के आरोप लगाए थे। 4 अक्टूबर 2017 को जीरकपुर-पटियाला हाईवे से हनीप्रीत की गिरफ्तारी की थी।

Ram Rahim को दोषी करार देने के दौरान बीते 25 अगस्त 2017 को पंचकूला में हुई हिंसा में 36 लोगों की मौत हो गई थी।

बता दें कि इससे पहले हनीप्रीत ने जमानत याचिका लगाकर कहा था, मैं एक महिला हूं और 25 अगस्त 2017 को पंचकूला में जब हिंसा हो रही थी, तब डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के साथ थी।

डेरा प्रमुख को सजा होने के बाद मैं राम रहीम के साथ पंचकूला से सीधा सुनारिया जेल रोहतक चली गई। हिंसा में मेरा कहीं कोई रोल नहीं है। मेरा नाम भी बाद में एफआईआर में डाला गया। मुझे पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया, बल्कि मैं खुद 3 अक्टूबर 2017 को आत्मसमर्पण करने के लिए आ गई थी।

जब इस एफआईआर नंबर 345 के अन्य 15 आरोपितों को जमानत मिल चुकी है, तो मुझे भी जमानत मिलनी चाहिए,लेकिन अदालत ने उसकी याचिका खारिज कर दी थी।  




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *