Dhussi Dam Damage in Punjab. Many Villages face danger in Mand Area Dhussi Dam Damage in Punjab. Many Villages face danger in Mand Area
BREAKING NEWS
Search
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Dhussi Dam

पंजाब में धुस्सी बांध टूटा, दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में

53

Jalandhar :-Punjab के Satluj Rivers में बड़े पैमाने पर छोड़े गए पानी के तेज़ बहाव के चलते मंड क्षेत्र (Mand Area) के Village Sarup pal के करीब अस्थाई बांध (Temporary Dam) के ध्वस्त हो जाने से बाढ़ का पानी सरूपवाल समेत लगभग आधा दर्जन गांवों में प्रलय मचा रहा। राहत कार्य में जुटी टीमें बांध की मुरम्मत का प्रयास कर रही है ।

DC Kapurthala ने Temporary Dam के मुरम्मत कार्य हेतु Army की मदद लेने की भी बात की है । Village Saruppal में कुछ लोग अपने सामान तथा मवेशिय़ों को लेकर धुस्सी बांध (Dhussi dam) पर आ गए जबकि काफी लोग अपने घरों की छतों पर चढ़ गए।

Sultanpur Lodhi तक पहुंच सकता है बाढ़ का पानी

Mand Area के निवासियों का कहना है कि यदि बाढ़ का पानी इसी गति के साथ बढ़ता गया तो सुबह तक सुल्तानपुर लोधी (Sultanpur Lodhi) तक पहुंच सकता है। भारी बारिश के बाद ब्यास (Bias River) तथा सतलुज दरिया (Satluj RIver) के बढ़े जलस्तर (Water Label) के कारण हल्का सुल्तानपुर लोधी (Sultanpur Lodhi) के गांव टिब्बी (Tibbi) , मंड इंदरपुर (Mand Inderpur) , शाहवाला (Shahwala) , नोकी (Noki) पानी से प्रभावित हुए हैं। इन गांवों के लोगों के लिए राहत और बचाव कार्य उच्च स्तर पर चल रहा है।

जिसकी कमान DC Kapurthala ER. D.P.S Kharbanda निर्वाचन क्षेत्र के MLANavtej SIngh Cheema और SSP Kapurthala Satinder SIngh ने खुद संभाली हुई है। आज उन्होंने स्वयं विभिन्न Motor boats से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया।

इस दौरान सैकड़ों लोगों को Flooding Relief camp में लाया गया। इस बीच, MLA नवतेज सिंह चीमा ने खुद ट्रैक्टर चलाकर जिला अधिकारियों के साथ बाढ़ प्रभावित गांवों का दौरा किया और लोगों से राहत शिविर (Relief camp) में जाने का आग्रह किया। उन्होंने लगभग 50 परिवारों को राहत शिविर में जाने के लिए राजी किया।

Dhussi Dam : Bhakra Dam से भारी मात्रा में Satluj River में छोड़े पानी ने मचाई तबाही

उधर, भाखड़ा डैम (Bhakra Dam) से भारी मात्रा में Satluj River में छोड़े गए पानी के कारण Sub Divison Sultanpur Lodhi के गांव धुस्सी बांध के टूट जाने के कारण क्षेत्र के दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं।

दरिया नजदीक रहते गांवों के लोगों की ओर से धुस्सी बांध (Dhussi Dam) की दिन-रात मुरम्मत और देखरेख की जा रही थी। परंतु अचानक सुबह 7 बजे के करीब गांव मंडाला, दारेवाल और सरुपवाल नजदीक बांध के टूट जाने के कारण बड़ी ही तेजी से पानी लोगों के खेतों और घरों में भरना शुरु हो गया जिससे गांवों में रहने वाले लोगों में भारी डर फैल गया और लोग अपने घरों का सामान और पशु संभालने में जुट गए।

Dhussi Dam के टूटने से कई गांव हुए प्रभावित

Dhussi Dam टूटने के कारण शेखमांगा, गिदड़पिंडी, वाटां वाली कलां , वांटावाली खुर्द, चन्नणविंडी, मीरपुर, शेरपुर, दारेवाल, यूसफपुर, तकियां, टिब्बी, भरोआणा, सरुपवाल, सदा, रामे, जब्बोवाल, शाहवाला अंदरीसा, भागो अराईयां, सदूवाल आदि गांव बाढ़ की चपेट में आ गए और धान व चारे की फसलें पूरी तरह पानी में डूब गई।

Dhussi Dam से प्रभावित गावों का जायज़ा लेने पहुंचे MLA Cheema

बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए सरकार और प्रशासन पूरी तरह से चौकस नजर आए। बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने के लिए Area MLA Navtej Singh Cheema प्रशासनिक अधिकारियों को साथ लेकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे और लोगों की मुश्किलें सुनी।

उन्होंने बताया कि पानी की स्थिति के साथ निपटने के लिए मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह की ओर से हरिके हैड Harike HeadWorks से पानी रिलीज करने के लिए 10 गेट खुलवाए गए हैं, जिससे पानी का स्तर कम होने की उम्मीद है।

Temporary Dam

उन्होंने बाढ़ पीडि़त लोगों को अपील की कि अपना सामान और खुद सुरक्षित जगहों पर पहुंचे, ताकि जान-माल का बचाव हो सके।

इस मौके क्षेत्र के किसानों परमजीत सिंह बाऊपुर, रजिन्दर सिंह तकियां, बाबर सिंह गिल, सरपंच बलविन्दर सिंह तकिया, सरपंच गुरमीत सिंह, सरपंच जगदीप सिंह रामपुर गौरा, डा. बलविन्दर सिंह, गरदौर सिंह आहली, कुलबीर सिंह आहली, सरपंच भुपिन्दर सिंह बूले आदि ने सरकार व प्रशासन से मांग की कि लोगों से बचाव के लिए हरिके हैड (Harike Head) से और पानी जल्द रिलीज करवाया जाए।

ALSO READ : AZAD SOCH PUNJABI NEWSPAPER




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *