Girls Football League : आप की बेटी भी खेल सकती है Girls Footbal World Cup Girls Football League : आप की बेटी भी खेल सकती है Girls Footbal World Cup
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Girls Football League

आप की बेटी भी खेल सकती है फुटबॉल वर्ल्डकप , जानिए कैसे

80

‘Khello India’ Girls Leaue में साल में thirty से forty मैच कराने का लक्ष्य,

अंडर-17 से होगी मैच कराने की शुरुआत

Girls Footbal League : SAI के मुताबिक Sunday के दिन होंगे लीग के मुकाबले

New Delhi. Sports Authority of India (SAI) देशभर में पहली बार लड़कियों को फुटबॉल खिलाने का अभियान शुरू कर रहा है। अब कस्बों और शहरों में बेटियां फुटबॉल खेलेंगी। प्राधिकरण यह Girls Football League का काम All india football federation के साथ मिलकर करेगा। सारी कवायद Next Year नवंबर में देश में ही होने वाले Girls under 17 Football World Cup को देखते हुए की जा रही है।

दरअसल, SAI Khello India Girls League शुरू कर रहा है। इसमें Badminton, Table Tennis, Boxing समेत ten से twelve खेलों को शामिल किया गया है। यानी, सिर्फ लड़कियों के लिए इन खेलों की लीग शुरू की जाएंगी।

लेकिन सबसे पहले Football की लीग शुरू होगी। इसमें अंडर-17 से शुरुआत होगी। इसके बाद अंडर-13, अंडर-15 को भी शामिल किया जाएगा। एक लीग में sixteen टीमें खेलेंगी। हर जगह साल में करीब thirty से forty मैच कराने का लक्ष्य रखा गया है।

ALSO READ: ‘पॉप स्टार’ माइकल जैक्सन : मरने के बाद भी कमा रहे हैं अरबों रूपये

हर City में कम से कम sixteen टीमें तैयार की जाएंगी और फिर इनके बीच मुकाबले होंगे। इसके बाद शुरू होगा नेशनल टीम बनने का सफर। गर्ल्स लीग शुरू करने का मकसद यह है कि लड़कियों को हर तरह के खेलों से जोड़ा जाए ताकि वे National and International स्तर पर देश का नाम रोशन कर सकें।

PV Sindhu ने कहा- इस तरह की League समय की जरूरत है : बैडमिंटन की वर्ल्ड चैंपियन PV Sindhu ने कहा कि Khello India’ Girls football League कराया जाना समय की जरूरत है। सभी उम्र की लड़कियों को हर तरह के खेलों में भाग लेना चाहिए ताकि देश खुशहाल और स्वस्थ रहे।

Girls Football League: ट्रेनिंग, तकनीकी और आर्थिक मदद साई देगा

Girls Football League के आयोजन के लिए साई तकनीकी और आर्थिक रूप से मदद करेगा। साथ ही खिलाड़ियों को Training देगा। किसी टीम का अपना मैदान होगा, तो साई वहां सुविधाएं मुहैया कराएगा। टीमें स्थानीय स्तर पर प्रायोजक शामिल कर सकती हैं।

ALSO READ : अब चंडीगढ़ जाना आप को पड़ सकता है 20 से 30 हज़ार में ?

ALSO READ: AZAD SOCH PUNJABI NEWSPAPER




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *