APJ Abdul Kalam के जीवन को जानकर आप हो जाएंगे हैरानAPJ Abdul Kalam के जीवन को जानकर आप हो जाएंगे हैरान
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
APJ Abdul Kalam

APJ Abdul Kalam के जीवन को जानकर आप हो जाएंगे हैरान

41

NEW DELHI। APJ Abdul Kalam भारत कि पहले ऐसे राषट्रपति (President) रहे हैं जो एक वैज्ञानिक (Scientist) बनने कि बाद देश कि राष्ट्रपति (President) बने । उनको लोग मिसाइल मैन (Missile Man) के नाम से जानते हैं। Dr. APJ Abdul Kalam न सिर्फ एक महान वैज्ञानिक, प्रेरणादायक नेता थे बल्कि अद्भुत इंसान भी थे। Kalam जी ने जिसके साथ भी काम किया उनके दिल को जीत लिया।

सब जानते हैं कि उन्होंने किस तरह कड़े संघर्षों के बाद सफलता (Success) हासिल की थी। किस तरह तमिलनाडु के शहर रामेश्वरम (Rameshvaram) के साधारण से परिवार से ताल्लुक रखने वाले एक लड़के ने मिसाइल मैन ( (Missile Man) ) तक का सफर पूरा किया। आइये जानते है उनके जीवन से जुडी हुई कुछ रोचक बातें जो उन्हें महान बनाती हैं और हमें उनकी जीवन कि बारे में और जानने कि लिए इच्छा पैदा करती हैं ।

3,52,000 रुपये का चेक काट कर राष्ट्रपति कार्यालय को भेजा

राष्ट्रपति APJ Abdul Kalam सादगी, मितव्ययिता और ईमानदारी जैसे उन गुणों की मिसाल थे जो आज के राजनीतिक परिदृश्य में दुर्लभ हो चले हैं। एक बार Abdul Kalam का पूरा परिवार उनसे मिलने दिल्ली आया। वे कुल 52 लोग थे, जिनमें उनके 90 साल के बड़े भाई से लेकर उनकी डेढ़ साल की परपोती भी शामिल थी। स्टेशन से सभी को राष्ट्रपति भवन लाया गया, जहां वह 8 दिन तक भवन में रुके। उनके आने-जाने से लेकर खाने-पीने तक, यहां तक की एक प्याली चाय का खर्चा भी कलाम ने अपनी जेब से दिया। इतना ही नहीं कलाम ने अपने अधिकारियों का भी साफ तौर पर निर्देश दिया था कि इन मेहमानों के लिए राष्ट्रपति भवन की कारें इस्तेमाल नहीं की जाएंगी। रिश्तेदारों के खाने-पीने के सारे खर्च का ब्यौरा अलग से रखा गया। और जब वह सभी वापस गए तब कलाम ने अपने निजी खाते से 3,52,000 रुपये का चेक काट कर राष्ट्रपति कार्यालय को भेजा।

‘कलमा’ पढ़ने से कम नहीं, कलाम के इन प्रेरणादायक विचारों का अध्ययन

सिर्फ 2 छुट्टियां
जहां नेता छुट्टियों पर घूमने जाने के लिए बेकरार रहते हैं वहीं, क्या आप जानते है कि अब्दुल कलाम ने अपने पूरे राजनीतिक जीवन में सिर्फ दो छुट्टियां ली थीं। एक बार जब उनके पिता की मौत हुई थी और दूसरी, जब उनकी मां की मौत हुई थी।

जब दो सूटकेस लेकर पहुंचे राष्ट्रपति भवन APJ Abdul Kalam

जब डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को President चुना गया था तो उनके स्वागत के लिए जोरो-शोरो से तैयारियां की गईं, President House को खूबसूरती से सजाया गया। वहीं ये तमाम तैयारी इसलिए की गई थीं कि देश के नए President का सामान ठीक से भवन में रखा जा सके। लेकिन इस बात को काफी कम लोग जानते हैं कि जब Abdul Kalam वहां पहुंचे तो वो सिर्फ 2 सूटकेस लेकर पहुंचे थे। एक सूटकेस में उनके कपड़े तथा दूसरी में उनकी प्रिय किताबें थी।

Missile Man APJ Abdul Kalam से जुड़े रोचक किस्से, जिंदगी के लिए खास सीख

नहीं रखा कभी उपहार
देश के 11वें President Abdul Kalam ने कभी किसी का उपहार नहीं रखा। एक बार किसी ने उन्हें 2 पेन तोहफे में दिए थे जिन्हें उन्होंने President Post से Retirement वक्त खुशी से लौटा दिए थे। उनका कहना था कि ‘उनके पिता ने सिखाया है कि कोई उपहार कबूल मत करो।’

Abdul Kalam ने जनरल परवेज मुशर्रफ को दिया था 30 मिनट लेक्चर

जब 2005 में जनरल परवेज मुशर्रफ भारत आए, तब वो तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ-साथ राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम से भी मिले। मुलाकात से एक दिन पहले जब कलाम के सचिव पीके नायर उनके पास गए और उन्होंने बताया कि “मुशर्रफ जरूर कश्मीर का मुद्दा उठाएंगे। आपको इसके लिए तैयार रहना चाहिए।” इसपर कलाम एक क्षण के लिए ठिठके, और कहा, ”उसकी चिंता मत करो। मैं सब संभाल लूंगा।”

अगले दिन ठीक 30 मिनट तक चली अब्दुल कलाम और मुशर्रफ की मुलाकात में मुशर्रफ ने सिर्फ कलाम की सुनी। कलाम उनको ‘संक्षेप’ में ‘पूरा’ (प्रवाइडिंग अर्बन फैसिलिटीज टु रूरल एरियाज) कॉन्सेप्ट का मतलब समझाते रहे और बताते रहे कि आने वाले 20 सालों में दोनों देश इसे कैसे हासिल कर सकते हैं। वहीं मुलाकात के 30 मिनट पूरे होने के बाद मुशर्रफ ने कहा, “धन्यवाद राष्ट्रपति महोदय, भारत काफी भाग्यशाली है कि उसके पास आप जैसा एक वैज्ञानिक राष्ट्रपति है।

ALSO READ: EID पर ‘राधे’ बन सकते हैं सलमान खान, अयानंका ने खोले दिल क राज

ALSO READ: AZAD SOCH PUNJABI EPAPER




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *