Panchkula violence case | राम रहीम के ख़िलाफ़ एक और पटीशन दाखल Panchkula violence case | राम रहीम के ख़िलाफ़ एक और पटीशन दाखल
BREAKING NEWS
Search

Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Panchkula violence case

Panchkula violence case: राम रहीम के ख़िलाफ़ एक और पटीशन दाखल

352

चंडीगढ़ : – रोहतक की सुनार्या जेल में बंद डेरा प्रमुख राम रहीम एक बार फिर से मुश्किल में है। पंचकुला की अदालत में राम रहीम के पूर्व चालक खट्टा सिंह ने एक पटीशन दाख़िल की है, जिस में 25 अगस्त 2017 को हुई हिंसा (Panchkula violence case) के मामलो में राम रहीम पर चारजिज लगाए जाएँ।

बता दें कि राम रहीम को दोशी इकरार दिए जाने के बाद पंचकुला ( Panchkula violence case ) में हिंसा हुई थी। पटीशन में दोश लगाया गया है कि हिंसा के मामलों में 240 एफआईआर दर्ज की गई है परन्तु किसी भी केस में राम रहीम का नाम नहीं लिया गया, जबकि पंचकुला हिंसा का मुख्य साज़िशकरता राम रहीम है। साथ ही, राम रहीम की मुँह बोली बेटी हनीप्रीत को साजिशकरता के तौर पर तलब किया जाना चाहिए। पटीशन पर 18 जनवरी को सुनवाई होगी।

राम रहीम के कहने पर Panchkula violence case

खट्टा सिंह का कहना है कि 25 अगस्त 2017 को पंचकुला में जो कुछ घटा वह राम रहीम और हनीप्रीत के कहने पर हुआ था। इतनी बड़ी साजिश इन दोनों से बिना संभव नहीं है। खट्टा सिंह ने कहा कि वह राम रहीम को अच्छी तरह जानता है, उसका दिमाग़ कैसे चलता है, दोशी एलान होने के बाद होने लाल थैला लाने का इशारा और फिर हिंसा भड़काने का, यह सब पहले ही फ़ैसला लिया गया था। इस के लिए डेरो में एक मीटिंग भी की गई थी ।

खट्टा सिंह के वकील महिंद्र जोशी जो ख़ुद कई सालों से डेरो के साथ जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि हम पटीशन में साफ़ लिखा है कि डेरे और इस के लोग राम रहीम के कहने पर कुछ भी कर सकते हैं। जोशी ने दोश लगाया कि हरियाणा सरकार की तरफ से मामलो की जांच के लिए बनाई गई इसआईटी दबाव में है। सरकार डेरे के वोट बैंक को देख रही है, इस लिए उसने राम रहीम प्रति नरम रवैया अपनाया है।

ALSO READ: Reela Wala Deck R Nait New Punjabi Song 2019

ALSO READ: GLOCK Singer MANKIRT AULAKH New Punjabi Song 2019

ALSO READ: Viral: जैकलीन के साथ सलमान खान ने किया मुन्नी बदनाम पर डांस

ALSO READ: Azad Soch Punjabi Epaper




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *