Firing in Bathinda- क्रिकेट टूर्नामेंट में कांग्रेसी नेता की गोली मारकर हत्या Firing in Bathinda- क्रिकेट टूर्नामेंट में कांग्रेसी नेता की गोली मारकर हत्या

Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Firing in Bathinda

क्रिकेट टूर्नामेंट में कांग्रेसी नेता की गोली मारकर हत्या

65

बठिंडा : गांव थमनगढ़ में क्रिकेट मैच के दौरान हुए विवाद में चचेरे भाई ने कांग्रेस यूथ के पूर्व उपाध्यक्ष तरुणपाल सिंह (35) की गाेलियां मारकर हत्या कर दी। वहीं, क्रास फायरिंग में चचेरा भाई भी जख्मी हो गया जिसे उपचार के लिए बठिंडा के सिविल अस्पताल में दाखिल कराया गया है। जबकि तरुणपाल ने आदेश अस्पताल बठिंडा में उपचार दौरान दम तोड़ दिया।

दूसरी पारी के पहले ओवर की घटना

सोमवार को गांव थमनगढ़ की दाना मंडी में कॉस्को क्रिकेट टूर्नामेंट चल रहा था। फाइनल मैच के एक पक्ष का दूसरे पक्ष से विवाद हो गया। इस दौरान अचानक कुछ व्यक्ति मंच पर पहुंच गए और भीड़ में फायरिंग शुरू हो गई। एक गोली कांग्रेसी नेता तरुणपाल सिंह पुत्र गुरजंट सिंह को लगी जिससे वो गंभीर रूप से जख्मी हो गया। जिस वक्त गोली मारी गई उस वक्त दूसरी पारी का पहला ओवर फेंका जा रहा था।

तरुणपाल की अस्पताल में मौत

वहीं, वारदात की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने गोली लगने से घायल हुए कांग्रेसी नेता तरुणपाल सिंह को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक जांच के बाद तरुणपाल को मृत घोषित कर दिया। जबकि चचेरे भाई को बठिंडा सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। लोगों का कहना है कि दोनों चचेरे भाइयों में कॉलेज टाइम से ही रंजिश थी।

मौड़ ब्लास्ट में बाल-बाल बच गया था तरुणपाल

मृतक तरुणपाल 2017 से पहले कांग्रेस यूथ दल का उपाध्यक्ष था। 2017 के विधानसभा चुनाव में तरुणपाल ने विधानसभा हलका मौड़ मंडी से त्रणमूल कांग्रेस का टिकट लिया था। चुनाव प्रचार के दौरान 31 जनवरी 2017 को मौड़ में आयोजित कांग्रेसी चुनावी सभा के दौरान हुए बम ब्लास्ट हुआ था उस दौरान तरुणपाल ने चुनावी मंच से त्रणमूल कांग्रेस को अलविदा कहकर कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर ली थी। इसी दौरान जब ब्लास्ट हुआ तो बाल बाल बच गए थे जिसे ब्लास्ट में मामूली चोटें भी लगी थी। वहीं डीएसपी मनोज गोरसी ने बताया कि पुलिस की आरंभिक पूछताछ में हमलावर चचेरा भाई बताया जा रहा है, पुलिस केस दर्ज करके मामले की जांच कर रही है।

तरुणपाल प्रबंधक था, गागी मेहमान के रूप में आया

सोमवार को गांव में चल रहे क्रिकेट टूर्नामेंट मे तरुणपाल प्रबंधकों में शामिल था जबकि चचेरे भाई गागी को प्रबंधक कमेटी की तरफ से फाइनल मैच में मेहमान के तौर पर बुलाया गया था। दोनों पक्षों में एक दूसरे की टीम के समर्थन को लेकर मंच पर विवाद हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पहला फायर तरुणपाल ने रिवाल्वर से किया। दूसरे पक्ष के चचेरे भाई गागी की तरफ से भी रिवाल्वर से फायरिंग की गई। दोनों पक्षों की ओर से कई राउंड फायर हुए। जिसमें तरुणपाल की छाती में गोली लगी जबकि क्रास फायरिंग में तरुणपाल के चचेरे भाई गागी के हाथ मे भी गोली लगी है जिसे गंभीर हालत में बठिंडा के सिविल अस्पताल में दाखिल कराया गया। जबकि तरुणपाल को आदेश अस्पताल में दाखिल कराया गया जहां उसने दम तोड़ दिया।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *