निर्भया के चारों गुनहगारों को आज शुक्रवार सुबह फांसी दे दी गई - AZAD SOCH निर्भया के चारों गुनहगारों को आज शुक्रवार सुबह फांसी दे दी गई - AZAD SOCH
Search

Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
निर्भया के चारों गुनहगारों को आज शुक्रवार सुबह फांसी दे दी गई

निर्भया के चारों गुनहगारों को आज शुक्रवार सुबह फांसी दे दी गई

241

नई दिल्ली: –

निर्भया के चारों गुनहगारों को आज शुक्रवार सुबह 5.30 बजे फांसी दे दी गई. इस बीच फांसी पर लटकाए जाने से पहले निर्भया के चारों दोषियों ने अपनी कोई अंतिम इच्छा जाहिर नहीं की थी  निर्भया के चारों दोषियों विनय, अक्षय, मुकेश और पवन गुप्ता को एक साथ फांसी के फंदे पर लटकाया गया और अब इनके शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया जाएगा. तिहाड़ जेल के फांसी घर में आज शुक्रवार सुबह ठीक 5.30 बजे निर्भया के चारों दोषियों को फांसी दी गई. सात साल 3 महीने और तीन दिन पहले यानी 16 दिसंबर 2012 को देश की राजधानी दिल्ली में हुई इस वीभत्स घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था. सड़कों पर लोगों का सैलाब इंसाफ मांगने के लिए निकला था और लगातार प्रदर्शन होते रहे. निर्भया की मां आशा देवी ने लंबे समय तक इंसाफ के लिए लड़ाई लड़ी, आज जब दोषियों को फांसी दी गई तो उन्होंने ऐलान किया कि 20 मार्च को वह निर्भया दिवस के रूप में मनाएंगी.

इस जंग में माता-पिता के साथ देशभर के लोगों की दुआएं थीं इस युद्ध में, वकील सीमा ने अंत तक हार नहीं मानी और एक ऐसे वकील का साथ था जिसने हर पल केस की बारीकियों को समझा। इस वकील ने कभी हार नहीं मानी। जब शुक्रवार को तड़के चारों दरिंदों को फांसी पर लटकाया गया इस वकील को भी अपने पहले ही केस में विजय हासिल हुई। सीमा ने केस लड़ने से पहले हर कानूनी दांवपेंच को काफी बारीकी से तैयार किया था। इसके हर पहलू को अच्‍छे से पढ़ा और समझा। सीमा की मानें तो इसकी वजह से ही वह केस को एक तार्किक निष्‍कर्ष पर ले जा सकीं। जब कोर्ट ने निर्भया के दोषियों का डेथ वारेंट जारी किया था तो मां के अलावा इस जंग को लड़ रही सीमा के लिए भी वह पल खुशी से कम नहीं था।

कोरोना वायरस सम्बन्धी थोड़ी देर में शुरू होगी ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक

अलर्ट : कोरोना के बारे में प्रधानमंत्री देश को करेंगे संबोधन




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *