ब्याज दरों में कटौती,RBI! के कर्जें लेने वालों को राहत,गवर्नर शकतीकांत दास ब्याज दरों में कटौती,RBI! के कर्जें लेने वालों को राहत,गवर्नर शकतीकांत दास
Search

Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
ब्याज दरों में कटौती,RBI के कर्जें लेने वालों को राहत,गवर्नर शकतीकांत दास

ब्याज दरों में कटौती,RBI! के कर्जें लेने वालों को राहत,गवर्नर शकतीकांत दास

243

AZAD SOCH :-

NEW DELHI :- भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर शकतीकांत दास ने कहा है कि कोरोना वायरस कारण विशवपद्धरी अरथचारे को बड़ा नुक्सान पहुँचा है। रिज़र्व बैंक ने पालिसी दरों में 0.40% की कटौती करन का ऐलान किया है। ऐमपीसी के 6 सदस्यों में से 5 ब्याज दरों घटाने के हक में थे।

0.40% की कटौती के साथ रेपो रेट 4% और रिवर्स रेपो दर कम कर 3.35% हो गई है। ऐमपीसी की आगे वाली बैठक 3ੑ-5 जून को होगी। उन कहा कि मार्च के बाद सांसारिक आर्थिकता में गिरावट आई है। माँग में कमी के कारण निवेश में भारी कमी आई है।

उन कहा कि मौजूदा माहौल के मद्देनज़र खेती सैक्टर से बड़ी उम्मीदों हैं। उन कहा कि मार्च में निर्माण में 17% की गिरावट दर्ज की गई है। उन कहा कि कोरोना वायरस कारण सरकार की आमदनी बुरी तरह प्रभावित हुई है। उन कहा कि देश के टाप 6सूबे सब से अधिक प्रभावित हैं।

उन का अरथचारे में 60% हिस्सा है। उन कहा कि महँगाई दर सितम्बर 2020 के बाद कम होगी और यह 4% से कम रह सकती है। उन कहा कि दालें, तेल बीजूँ और अनाज की महँगाई में तेज़ी आई है। उन कहा कि भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 9।2बिलियन डालर का विस्तार हुआ है।

उन कहा कि माँग और स्पलाई का अनुपात बिगड़ने कारण देश का अर्थ व्यवस्था ठप्प हो गया है। सरकारी कोशिशों का प्रभाव और रिज़र्व बैंक की तरफ से चुके गए कदमों का प्रभाव सितम्बर के बाद भी दिखाई देना शुरू होगा। उुन्हें कहा कि रिज़र्व बैंक ने ऐकसआईऐम बैंक को 15,000 करोड़ रुपए का वित्तीय सहायता देने का ऐलान किया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डा. हरशवरधन को शुक्रवार सरबसंमती के साथ WHO कार्यकारी बोर्ड का चेयरमैन चुना


भारत में कोरोना की मार नीचे चल रहा है जिस कारण बहुत सी कारोबार बंद हो चुके हैं,क्योंकि इस समय भारत में लौकडाऊन लगा हुआ है, जिस कारण भारत की अर्थ व्यवस्था बहुत को काफ़ी ज़्यादा नुक्सान हो रहा है, जिस कारण जहाँ बहुत सी लोग बेरोजगार हो गए हैं। वहाँ ही कोरोना कारण भारत में अच्छे कारोबार बंद हो चुके हैं इस से इलावें दुनिया में इस तरह की हालात हो चुके हैं।

AZAD SOCH :- E-PAPER

AZAD SOCH :- TV




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *