भारत में कोरोना की वैक्सीन तैयार करन के लिए कोशिशों में तेज़ी, वैक्सीन पर रिसर्च भारत में कोरोना की वैक्सीन तैयार करन के लिए कोशिशों में तेज़ी, वैक्सीन पर रिसर्च
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
भारत में कोरोना की वैक्सीन तैयार करन के लिए कोशिशों में तेज़ी, वैक्सीन पर रिसर्च जारी

भारत में कोरोना की वैक्सीन तैयार करन के लिए कोशिशों में तेज़ी, वैक्सीन पर रिसर्च जारी

313

AZAD SOCH :-

NEW DELHI :- देश में कोरोना वायरस लगातार अधिक रहा है, और जिस के साथ लोगों की मौत हो रही है, इस को रोकनो के लिए भारत हर कोशिश कर रहा है, भारत में lockdown लगा हुआ है, जिससे इस महामारी से लोगों को बचाया जा सके,परन्तु कई राज्यों में कर्फ़्यू में थोड़ी बहुत छूट दी गई है ।

परन्तु इस के साथ कोरोना का फैलणें जारी है, और इस के साथ ही भारत में कोरोना वायरस की दवा वैक्सीन तैयार करन के लिए पूरी कोशिश कर रहा है, भारत की बहुत दवाएँ तैयार करन वालों कंपनियाँ अपनी कोशिश कर रही हैं, जिस पता चल्हा है, वह था शफल हो सकतीं हैं।

भारत में वैक्सीन बनाने की कोशिश तेज हो गई है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ा रहे हैं और लगातार उनके संपर्क में हैं। रत की 6 फॉर्मा कंपनियें वैक्सीन पर काम कर रही हैं। विशेषज्ञों का कहना है की देश में वैक्सीन पर रिसर्च जारी है, लेकिन यह शुरुआती स्टेज पर है।

एक साल से पहले इस पर ठोस सफलता की संभावना कम है। जानकारी अनुसान पता चल्हा है, कि 2021 से पहले बड़े पैमाने पर उपयोग के लिए वैक्सीन की तैयार होने की संभावना कम है। भारत समेत पूरी दुनिया वैक्सीन पर काम कर रही है।

भारत में क्खदचत  Zydus Cadila दो वैक्सीन पर डेवलेप करने में जुटी है। जबकि Serum Institute, Biological E, Bharat Biotech, Indian Immunologicals और Mynvax एक एक वैक्सीन बना रही हैं।

वहीं W.O ने वैक्सीन विकसित करने में शामिल फर्मों में भारत से सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, Zydus Cadila, Indian Immunologicals Limited और Bharat Biotech को सूचीबद्ध किया है।

25 ਮਈ ਤੋਂ ਸ਼ੁਰੂ ਹੋ ਰਹੀ ਹੈ ਦੇਸ਼ ਦੇ ਕਈ ਹਿੱਸੀਆਂ ਵਿੱਚ ਘਰੇਲੂ ਹਵਾਈ ਆਵਾਜਾਈ

पीएम CARES  फंड से वैक्सीन बनाने में जुटे फर्मों के लिए 100 करोड़ रुपये का फंड निर्धारित किया गया है। सीनियर वायरलॉजिस्ट शाहिद जमील का कहना है की वैक्सीन बनाने में भारत अहम रोल निभा रहा है भारतीय कंपनियों में वो क्षमता और विशेषज्ञता है।

भारत के इलावा विश्व के कई देश इस कोरोना वायरस की दवा वैक्सीन तैयार करन में लेगे हुए हैं, जिससे इस महामारी का जल्दी से जल्दी इलाज कोरोना मरीजों का किया जा सके ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में इस कोरोना वैक्सीन की दवा तैयार की जा रही है ।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के विज्ञानियों ने इस कोरोना वैक्सीन तैयार करन के लिए ट्रायल कर चुकी है, जो ट्रायल किये था बंदरों और किये थे, जो इस समय फैल हो चुके हैं, बंदरों और ट्रायल काफ़ी समय से चल रहा थी ।

इस के साथ ही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी इनशानें और भी इस वैक्सीन का प्रयोग कर रहा है, जिन नतीजें हल्ले बाकी है, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी अब तक 1000 हज़ार मनुष्यों और इस वैक्सीन का प्रयोग की है, जो कि अपनी मर्ज़ी के साथ ही इस ट्रायल में हिस्सें लिया था।

और साथ ही इजरायल भी दाअवें कर चुका है, हम कोरोना की वैकसनी जा दवा बना के लिए है,यह ख़बर मीडिया राही प्राप्त हुई थी इटली,स्पेन, बंगलादेश, और ओर भी इस की वैक्सीन तैयार करन के लिए लगे हुए हैं बंगलादेश इस की दवा बनाने के लिए दाअवें पेश कर चुका है, बंगलादेश ने यह भी केह दिया था हम कोरोना का ट्रायल कर चुके हैं,और जो नतीजे आए हैं वह बहुत ही ठीक आए हैं।

ਹਾਕੀ ਦੇ ਮਹਾਨ ਖਿਡਾਰੀ ਪਦਮ ਸ੍ਰੀ ਬਲਬੀਰ ਸਿੰਘ ਸੀਨੀਅਰ ਅੱਜ ਸਵੇਰੇ ਦਿਹਾਂਤ

AZAD SOCH :- E-PAPER

AZAD SOCH : TV




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *