2020–21 में भारत की विकास दर घट के हो सकती है -6.8 SBI रिपोर्ट - AZAD SOCH 2020–21 में भारत की विकास दर घट के हो सकती है -6.8 SBI रिपोर्ट - AZAD SOCH

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
2020–21 में भारत की विकास दर घट के हो सकती है -6.8 SBI रिपोर्ट

2020–21 में भारत की विकास दर घट के हो सकती है -6.8 SBI रिपोर्ट

421

AZAD SOCH :-

NEW DELHI :- लॉकडाउन और कोरोना वायरस की महामारी की लपेट में आई भारतीय अरथ–विवसथा पर चालू वित्ती–वर्हे दौरान काफ़ी बुरा प्रभाव पड़ने वाला है। यह दावा स्टेट बैंक आफ इंडिया की ईकोरैप रिपोर्ट में किया गया है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि साल 2020–21 दौरान भारत की विकास दर सिफ़र से भी 6.8 प्रति सदी नीचे जा सकती है भाव यह -6.8 रह सकती है। मार्च महीने से लौकडाऊन शुरू होने के कारण बीते वित्तीय वर्ष की आख़िरी तिमाही में विकास दर 1.2 प्रति सदी रहने का अनुमान है।

ईकोरैप अनुसार वित्तीय वर्ष 2019– 20 की तीसरी तिमाही (अकतूबर–दसम्बर) में विकास दर सात साल के निचले स्तर पर 4.7 प्रति सदी रही थी। पहली तिमाही में विकास दर 5.1 प्रति सदी और दूसरी तिमाही में 5।6प्रति सदी थी ।

करन जौहर के घर 2 लोगों को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाएगे,किया क्वारंटीन

स्टेट बैंक आफ इंडिया ने कहा कि चौथी तिमाही के आख़िरी हफ़्ते में लॉकडाउन कारण कारोबारी गतिविधियों पूरी तरह ठप्प हो गई थीं। इस कर्क जनवरीमार्च दौरान विकास दर 1.2 प्रति सदी रह सकती है। राष्ट्रीय संख्या दफ़्तर 29 मई को पिछले वित्तीय वर्ष के कुल घरेलू उत्पादन के साथ सम्बन्धित आंकड़े जारी करेगा।

इस से पहले ऐसबियायी ने अनुमान प्रकटाया है कि बीते वित्ती–वर्हे दौरान विकास दर 4.2 प्रति सदी रह सकती है, जो पहले 5 प्रति सदी रहने का अनुमान था। रिपोर्ट में बताया गया है कि मार्च के आख़िरी हफ़्ते लागू हुए लॉकडाउन कारण सिर्फ़ 7 दिनों अंदर अर्थ व्यवस्था को 1.4 लाख करोड़ रुपए का नुक्सान हैं।

साथ ही नये वित्तीय वर्ष के शुरुआती दो महीनों में लौकडाऊन में जाने कारण विकास दर सिफ़र से भी कम हो गई है। अनुमान है कि साल 2020– 21 में कुल घरेलू उत्पादन में विस्तार दर 6.8 प्रति सदी तक गिर सकती है।

भारत और चीन के साथ हुए तनाव के बीच PM मोदी ने अजीत डोभाल,बिपिन रावत के साथ की बैठक

लॉकडाउन में हुए कुल नुक्सान का 50 प्रति सदी रैड्ड जन्म के साथ जुड़ा हेस जिस में देश के ज़्यादातर बड़े ज़िले आते हैं।भारत में कोरोना वायरस करके लॉकडाउन लगा हुआ है, जिस कारण बहुत सी कारोबार बंद पड़े हैं, इस कारण भारत में आऊण वाले समय में बेरोजगारी बंद सकती है.

दुनिया के कई देशों में इस बार विकास दर बहुत कम रहने का अनुमान है, कई देशों में आने वाले समय में कारोबार बंद कर दे अनुमान लगाए जा रहे हैं,दुबई में 40 से 50 प्रतिशत कारोबार आने वाले समय में बंद किये जा सकते हैं,इन में होटल,प्रापरटी,घर निर्माण, के इलावा हो भी कई कारोबान में विकास दर नीचे आ सकती है।

ਪੰਜਾਬ ਵਿੱਚ 30 ਮਈ ਤੱਕ ਲਿਆ ਜਾਵੇਗਾ ਲੌਕਡਾਊਨ ਵਾਰੇ ਅੰਤਿਮ ਫੈਸਲਾ

AZAD SOCH :- E-PAPER

AZAD SOCH :- TV




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *