PM मोदी 2.0 का पहला एक साल पूरा,देश किया सम्बोधन देश निवासियों को लिखी चिट्ठी PM मोदी 2.0 का पहला एक साल पूरा,देश किया सम्बोधन देश निवासियों को लिखी चिट्ठी
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
PM मोदी 2.0 का पहला एक साल पूरा,देश किया सम्बोधन देश निवासियों को लिखी चिट्ठी

PM मोदी 2.0 का पहला एक साल पूरा,देश किया सम्बोधन देश निवासियों को लिखी चिट्ठी

265

AZAD SOCH :-

NEW DELHI :- PM मोदी ने अपनी सरकार के दूसरे कारजकाल का एक साल पूरा होने पर देश के लोगों को एक पत्र लिखा है।कोरोना संकट की स्थिति में पीऐम मोदी ने देशवासियें की हिम्मत बढ़ाते हुए कहा कि हमें याद रखना चाहिए कि 130 साल के भारतियों का वर्तमान समय कोई आपदा या कोई मुसीबत तय नहीं कर सकती।

पत्र में प्रधानमंत्री ने भरोसा जताया की जैसे देश कोरोना से लड़ा है वैसे ही आर्थिक मोर्चे पर भी मिसाल कायम करेगा। प्रधानमंत्री ने पत्र में मजदूरों की तकलीफ का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री मोदी ने पत्र में लिखा की आज से एक साल पहले भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक नया स्वर्णिम अध्याय जुड़ा।

देश में दशकों बाद पूर्ण बहुमत की किसी सरकार को लगातार दूसरी बार जनता ने जिम्मेदारी सौंपी थीइस के इलावा पी.ऐंम मोदी कहा कि उन कहा कि अगर आम हालात होते, तो मुझे आपके बीच आ कर आपके दर्शन करन का सौभाग्य हासिल होता परन्तु कोरोना–वायरस कारण हालात ऐसे बने हुए हैं ।

जिस कारण इस चिट्ठी के द्वारा आपका आशीर्वाद लेने के लिए आया हैं। उन कहा कि आज अपना देश कोरोना महामारी के साथ लड़ रहा है जिस में देश वाश्यों ने अपने देश को बचाने के लिए हर कोशिब की और देश के नागरिकों ने सरकार का पूरा साथ दिया ।

और साथ ही उन न कहने से कि देश ने एकतें दिखाई है। इस के बाद दूसरे कारजकाल के पहले वर्ष की प्राप्तियाँ को गिणवायहैं। श्री मोदी ने जनता के नाम चिट्ठी के द्वारा लोगों के साथ संवाद रचायआ है।भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक नया सुनहरी अध्याय जुड़ा।

देश में कई दशकों के बाद पूर्ण बहुमत की किसी सरकार को लगातार दूसरी बार जनता ने ज़िम्मेदारी सौंपी थी। इस तरह आज का यह दिन मेरे लिए मौका है आपको झुक कर नमन करन का हूँ, पी.ऐंम. मोदी कहा कि हम आगे बढ़ेंगे, हम तरक्की के रास्ते पर चलेंगे, हम जित्तांगे।

इसके साथ ही उन कहा कि बहुत सी लोगों को डर था कि जब कोरोना भारत पर हमला करेगा तो भारत पूरी दुनिया के लिए संकट बन जायेगा। परन्तु आज सभी देश निवासियों ने भारत की तरफ देखने के नज़रिए को बदल दिया है।

आप यह साबित कर कर दिखाया है कि विशव के शकतीशाली और खुशहाल देशों की तुलना में भारतियों की सामूहिक ताकत और संभावना बेमिसाल है।

पिछले कारजकाल के सम्बन्ध में पीऐम मोदी ने पत्र में लिखा है, ‘साल 2014 में, आप, देश के लोगों ने, देश में एक बड़ी तबदीली के लिए वोट दी था, देश की नीति और रीति को बदलने के लिए वोट दी था। उन पाँच सालों में देश ने प्रणाली को जड़ों और भ्रिशटाचार की दलदल में से बाहर आते देखा है।

PSEB RESULT

उन पाँच सालों में अंतियोद्या की भावना के साथ देश ने गरीबों की ज़िंदगी को आसान बनाने के लिए प्रसासन को बदलते देखा है। उस समय दौरान जहाँ दुनिया में भारत का मान बढ़ा,वहाँ ही हम गरीबों के बैंक खाते खोल कर, उन को मुफ़्त गैस कुनैकशन के कर, उन को मुफ़्त बिजली के कुनैकशन के कर, टायलट बनवा कर, मकान बना कर गरीबों की इज्जत भी बधाई।

उस दौर में जहाँ एक सरजीकल स्ट्राईक हुई, हवाई हमले हुए, वहाँ ही हम ‘वन रैक, वन पैनशन ’, वन नेशन, वन टैकस ’ (भछउ), किसानों की झछश की पुरानी माँगों को पूरा करन के लिए भी काम किया।

पिछले एक साल में अपनी सरकार की प्राप्तियाँ के बारे में प्रधान मंत्री मोदी ने लिखा है, ‘राशटरी एकताੑअखंडता के लिए आर्टीकल 370, सदियों पुराने संघरश के खुशहाल नतीजे राम मंदिर की उसारी की बात, आधुनिक सामाजिक व्यवस्था में रुकावट बना ट्रिपल तलाक हो ।

भारत की करुणा का प्रतीक सिटीज़नशिप संशोधन कानून यह सभी प्राप्तियाँ आपके सभी को याद हैं चीफ़ आफ डिफेंस स्टाफ (ङनछ) के ओहदे के गठन के साथ फौजें में तालमेल बढ़ा है, वहाँ ही भारत ने ‘मीसन गगनयान ’ की तैयारियाँ भी तेज कर दीं हैं।

इस समय दौरान गरीबों को, किसानों को, औरतें और नौजवानों को सशकतीकरन करना हमारी प्रथमता रही है। अब देश का हर किसान प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधी के दायरे में आ गया है।

पिछले एक साल में इस योजना के अंतर्गत 9करोड़ 50 लाख से अधिक किसानों के खातों में 72,000 करोड़ रुपए संचित करवाए गए हैं।श्री मोदी ने कहा है कि आम लोगों के हितों के साथ जुड़े बेहतर कानून बने।

इस लिए पिछले एक साल दौरान तेज़ी के साथ काम हुआ और पिछला रिकार्ड तोड़ दिया। यही कारण है कि खपतकार सुरक्षा कानून हो, चिट–फ़ंड कानून में संशोधन हो, दिवयांगें, औरतें और बच्चों को अधिक सुरक्षा देने वाले कानून होने ।

यह सब तेज़ी के साथ बन सके हैं।इस के साथ ही ‘आत्मनिर्भर भारत ’ मुहिम के लिए बीते कुछ समय दौरान ऐलाने गए 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज का ज़िक्र भी इस चिट्ठी में किया गया है।

यह भी पढ़ो :-

‘लॉकडाउन 5’ बारे में PM मोदी और अमित शाह ने की मुलाकात,नयी रणनीति पर हुआ विचार

केंद्र सरकार हर परिवार को दे 7500 रुपए,ज़रूरतमन्दों के लिए सरकारी ख़ज़ाना खोले केंद्र-सोनिया गांधी

AZAD SOCH :- E-PAPER

AZAD SOCH :- TV




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *