पूर्व राष्ट्रपति प्रनब मुखर्जी के निधन कई दिनों से थे बीमार AZAD SOCH पूर्व राष्ट्रपति प्रनब मुखर्जी के निधन कई दिनों से थे बीमार AZAD SOCH
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
पूर्व राष्ट्रपति प्रनब मुखर्जी के निधन कई दिनों से थे बीमार

पूर्व राष्ट्रपति प्रनब मुखर्जी के निधन कई दिनों से थे बीमार

93

AZAD SOCH :-

NEW DELHI :- देश के भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रनब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) की निधन हो गया,वह कई दिनों से बहुत बीमार चल रहे थे,और उन का इलाज चल रहा था,उन की उम्र 84 साल की थी, कुछ दिन पहले ही प्रनब मुखर्जी का इस महीने दिमाग़ की सर्ज़री हुई, जिस के बाद वह कोमा में थे,प्रनब मुखर्जी डाक्टरों की देख रेख में थी.

एक स्पैशल डाक्टरों की टीम उन की जांच कर रही थी,और उन की देख रेख कर रही थी, इस से आज उन देहांत हो गया था,उन के निधन की तरफ से पूरे देश में शोक की लहर है,देशभर के लोग उन्हांनूं अपनी श्रद्धाँजलि अर्पित कर रहे है,प्रनब मुखर्जी की सेहत ख़राब होने के कारण 10 अगस्त को उन को दिल्ली के हस्पताल में दाख़िल करवाया गया थी.

उन के दिमाग़ में ख़ून के गतले बनने के बाद सर्ज़री की गई थी,और इस जानकारी उन बेटो ने दी है, प्रनब मुखर्जी के बेटेअभिजीत मुखर्जी ने टवीट करके इस बारे जानकारी दी.

इस के साथ ही प्रनब मुखर्जी को कोरोनावायरस पोज़ेटिव थे,दिल्ली के आर्मी हस्पताल (खोज और रैफरल) में दाख़िल प्रनब मुखर्जी के हैल्थ बुलेटिन में प्रातःकाल हस्पताल ने कहा था कि माहिर डाक्टरों की एक टीम उसकी देखभाल कर रही है परन्तु हालात लगातार बिगड़ रही है.

प्रनब मुखर्जी साल 2012 में देश के राष्ट्रपति बने था,और 2017 तक वह राष्ट्रपति रहे,साल 2019 में उन को भारत रत्न के साथ सनमानत किया गया।


यह भी पढ़े:- सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूशण को लगाया एक रुपए जुर्माना,न देने पर होगी 3 महीनों की जेल

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने टवीट करके प्रनब मुखर्जी की मौत पर श्रद्धांजली भेंट की,रामनाथ कोविन्द ने एक टवीट में लिखा कि प्रनब मुखर्जी के देहांत की ख़बर सुनकर दुख हु हैं,उन का विदाई होना एक युग का अंत है,प्रनब मुखर्जी ने देश की सेवा की,आज उन के जाने साथ पूरा देश दुखी है.


देश के प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी ने टवीट किया कि भारत रत्न श्री प्रनब मुखर्जी के देहांत पर दुख का दिखावा करता है,उन्हों ने हमारी कौम के विकास मार्ग पर अमिट छाप छोड़ी है,एक विद्वान, एक राजनेता, वह समाज के सभी वर्गों की तरफ से प्रशंसनीय था।


इस के बाद अपने एक दूसरे टवीट में उन्हांने कहा, “भारत के राष्ट्रपति के रूप में, श्री प्रनव मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन को आम नागरिकों के लिए ओर भी ज़्यादा आसान बनाया,उन्हांने राष्ट्रपति के घर को सीखने, नवाचार, संस्कृति, विज्ञान और साहित्य का केंद्र बनाया,प्रमुख नीतिगत मामलों पर उन की बुद्धिमान सलाह मेरे द्वारा कभी नहीं भुलायी जायेगी।


यह भी पढ़े:-

7 सितंबर से मेट्रो चलाने की मंजूरी केंद्र सरकार ने Unlock-4 की Guideline जारी की

ਗੋਲੀਬਾਰੀ ਦੌਰਾਨ ਭਾਰਤ-ਪਾਕਿ ਸਰਹੱਦ ਤੇ ਪੰਜਾਬ ਦੇ ਨਾਇਬ ਸੂਬੇਦਾਰ ਰਾਜਵਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਸ਼ਹੀਦ

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ facebook page like ਅਤੇ twitter follow ਕਰੋਂ




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *