कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा - AZAD SOCH कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा - AZAD SOCH
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा

कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा

43

AZAD SOCH :-

NEW DELHI :- महाप्रबंधक,उत्तर एवं उत्तर मध्य रेलवे श्री राजीव चौधरी ने अनुभव साझा करने के उद्देश्य से जर्मन रेलवे कॉर्पोरेशन (Deutshe Bahn) के विशेषज्ञों के साथ आयोजित वेब आधारित सत्र की अध्यक्षता की हमारा राष्ट्र कोविड -19 महामारी के कारण एक अभूतपूर्व और चुनौतीपूर्ण समय से गुजर रहा है.

हालांकि,रेलवे जो सभी प्रतिकूल परिस्थितियों के दौरान प्रदर्शन करने के लिए जानी जाती है,वो वर्तमान स्थितियों के अनुसार खुद को ढ़ालते हुये पूरे देश में आवश्यक माल और यात्री यातायात सुनिश्चित करने के लिए अथक प्रयास कर रही है,उत्तर रेलवे ने कोविड -19 के विरुद्ध लड़ाई में समग्र और व्यापक दृष्टिकोण अपनाया है.

लेकिन इस नोवल कोरोना वायरस से निपटने के क्रम में प्रतिदिन नये प्रयोग हो रहे है,कोविड -19 की स्थिति को संभालने में अन्य रेलवे द्वारा प्रयोग की जा रही सर्वोत्तम तकनीकों से सीखने के इरादे से, जर्मन रेलवे कॉरपोरेशन (Deutshe Bahn) के विशेषज्ञों के साथ एक वेब संगोष्ठी सह अनुभव साझाकरण सत्र दिनांक 01.09.2020 को आयोजित किया गया.

कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा
कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा

जिसमें जर्मन रेलवे कॉरपोरेशन (Deutshe Bahn) के साथ जुड़े श्री फेलिक्स रेजवेस्की (Mr Felix Rezewski) एवं श्री फेलिक्स उलरिच (Mr Felix Ullrich) जैसे वैश्विक विशेषज्ञों ने रेलवे संबंधित क्षेत्रों में वरिष्ठ पदों पर काम कर रहे अपने भारतीय सहयोगियों श्री आशीष गर्ग और श्री सुमंत वत्स के साथ, जर्मन रेलवे कॉर्पोरेशन द्वारा कोविड -19 के दौरान ट्रेनों के कुशल संचालन और रखरखाव के लिए उठाए गए कदमों को साझा किया.

यह भी पढ़े:- उत्‍तर रेलवे रिफंड कार्यालय को गुणवत्ता प्रबंधन सेवाओं के लिए आईएसओ 9001-2015 प्रमाणन के साथ सम्मानित किया गया

महाप्रबंधक उत्तर एवं उत्तर मध्य रेलवे श्री राजीव चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित इस वेबिनार में उत्तर मध्य और उत्तर रेलवे के प्रमुख विभागाध्यक्षों और दोनों रेलवे के मण्डलों के मण्डल रेल प्रबंधकों ने भाग लिया,प्रारम्भिक सत्र में, महाप्रबंधक श्री चौधरी ने कोविड -19 के दौरान रेलवे द्वारा उठाए गए कदमों को साझा किया.

और बताया कि उत्तर और उत्तर मध्य रेलवे दोनों ने न केवल माल और पार्सल परिवहन, श्रमिक स्पेशल चलाने, विशेष ट्रेनों का संचालन आदि जैसे कोर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है, बल्कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में कई अपरंपरागत और अभिनव कदम उठाए हैं.

कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा
कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा

उदाहरण स्वरूप आईसोलेशन कोच, क्वारंटीन केंद्र, कोविड -19 अस्पताल, कार्यालयों और स्टेशनों में किए गए इंतजाम, फेस कवर, सैनिटाइजर, पीपीई कवरॉल आदि का आंतरिक स्रोतो से उत्पादन,उन्होने आगे कहा कि हमें इस अदृश्य शत्रु के साथ कुछ समय तक रहना पड़ सकता है.

कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा
कोरोना से निपटने के लिए दुनिया भर की रेलवे अनुभव कर रहीं साझा

और यह महत्वपूर्ण है कि हम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित इस अनुभव साझाकरण सत्र में रेलवे की दुनिया की सर्वोत्तम प्रथाओं से सीखें और इसके साथ ही महाप्रबंधक ने वक्ताओं का स्वागत किया,Deutshe Bahn के विशेषज्ञों ने कोविड -19 के दौरान परिचालन कर्मचारियों के जोखिम प्रबंधन,आपूर्ति श्रृंखला जोखिम प्रबंधन और कोविड -19 के वित्तीय प्रभाव से निपटने सम्बंधी अनुभव साझा किये.

परिचालन कर्मियों के जोखिम प्रबंधन के संबंध में एक विश्लेषणात्मक आईटी उपकरण का उपयोग कर जर्मन रेलवे कॉर्पोरेशन द्वारा कर्मियों की वर्तमान स्वास्थ्य स्थिति और कोविड -19 के पूर्वानुमानित प्रसार के आधार पर प्रत्येक क्षेत्र में कर्मचारियों की उपलब्धता के आंकलन के लिए किया गया.

यह भी पढ़े:- कोरोना के खिलाफ जंग शकूरबस्‍ती स्थित कोविड केयर सेंटर में अब तक कुल 423 मरीज भर्ती किए गए

इसी प्रकार,आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन के तहत संचालन और रखरखाव के लिए आवश्यक सामग्री की उपलब्धता, वर्तमान इन्वेंट्री स्तर, संभावित आपूर्तिकर्ताओं की सूची, उत्पादन स्थलों में प्रतिबंध, परिवहन आदि के सम्बंध में विश्लेषणात्मक आईटी उपकरण का उपयोग करके प्रत्येक आपूर्तिकर्ता को रेटिंग की गई है और सर्वोत्तम विकल्प चुनने के लिए प्रत्येक संभावित आपूर्तिकर्ता को अंक दिए गए.

(दीपक कुमार)
मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी
(दीपक कुमार)
मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी

Deutshe Bahn के साथ काम करने वाले विशेषज्ञों ने कहा कि भारतीय रेलवे ने कोविड -19 स्थिति को कुशल तरीके से संभाला है और अपने बड़े और व्यवस्थित डेटा बेस का उपयोग कोविड -19 के बाद की रणनीति तैयार करने तथा माल और यात्री परिवहन में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए कर सकती है.

महाप्रबंधक श्री चौधरी ने कहा कि रेलवे पहले से ही लंबी अवधि की परियोजनाओं जैसे यात्री सेवाओं में प्रमुख सुधार, 2024 तक माल लदान की मात्रा दोगुना करना, ट्रेनों की गति बढ़ाना आदि पर काम कर रही है तथा डेटा विश्लेषण का उचित उपयोग रेलवे को इन लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करेगा.

यह भी पढ़े:-

7 सितंबर से मेट्रो चलाने की मंजूरी केंद्र सरकार ने Unlock-4 की Guideline जारी की

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का निजी Twitter अकाउँट हैक,हैकरों ने की Bitcoin की मांग

राजनाथ सिंह के बेटे विधायक पंकज सिंह की रिपोर्ट आई कोरोना संक्रमित

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ facebook page like ਅਤੇ twitter follow ਕਰੋਂ




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *