हरियाणा में कांग्रेसी वर्कर की तरफ से खेती Agriculture Ordinance Bill का विरोध हरियाणा में कांग्रेसी वर्कर की तरफ से खेती Agriculture Ordinance Bill का विरोध
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
हरियाणा में कांग्रेसी वर्कर की तरफ से खेती Agriculture Ordinance Bill का विरोध और धरना दिया

हरियाणा में कांग्रेसी वर्कर की तरफ से खेती Agriculture Ordinance Bill का विरोध और धरना दिया

22

AZAD SOCH :-

Haryana:- हरियाणा में भी खेती बिलों (Agriculture Ordinance Bill) का विरोध किया जा रहा है,इस बिलों का लगातार विरोध हो रहा है, इस के साथ ही अब कांग्रेस दे दे बुलाऐ पर ज़िला Congress के वर्कर की तरफ से किसानों के समर्थन में आज यहाँ धरना प्रदर्शन किया गया, प्रदर्शन के बाद राष्ट्रपति के नाम पर याद पत्र दिया गया जिस में राष्ट्रपति से इन काले कानूनों पर हस्ताक्षर न करन की माँग की गई।

इस मौके सैंकड़े किसान, मज़दूर, आढ़ती और कांग्रेसी वर्कर मौजूद थे।सरकार की उद्देश्य किसानों के प्रति ठीक नहीं है जबकि किसान का हित ही देश का हित है, इस मौके सैंकड़ो किसान, मज़दूर, आढ़ती और कांग्रेसी वर्कर मौजूद थे।

188 दिनों के बाद,ताजमहल सोमवार को फिर से खुल गया

इस मौके संबोधन में विधायक बीएल सैनी, विधायक रेनू बाला, पूर्व मंत्री अकरम ख़ान, पूर्व ज़िला परिषद के चेयरमैन और ज़िला कांग्रेस के कोआरडीनेटर श्याम सुंदर बत्रा और पूर्व विधायक राज्यपाल भुक्खड़ी ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों के हितों के साथ खीलवाड़ करके अपने पूँजीपति मित्रों का भला करना चाहती है।

राज सभा स्पीकर Venkaiah Naidu ने कल हंगामा करन वाले आठ संसद पूरे सैशन के लिए सस्पैंड


इस के साथ ही केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की तरफ से किसानों के 25 सितम्बर के राष्ट्रीय आंदोलन को समर्थन देने का ऐलान किया गया है ,बांये समर्थकी नेता अमरजीत कौर ने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से देश के किसानों का गला कसाव वाले बनाऐ गए कानून ख़िलाफ़ 25 सितम्बर के रेल रोोको, रास्ता रोोक आंदोलन का समर्थन किया गया हैै।

यह भी पढ़ो:

ਕਿਸਾਨ ਜੱਥੇਬੰਦੀਆਂ ਵੱਲੋਂ 25 ਸਤੰਬਰ ਨੂੰ ਪੰਜਾਬ ਬੰਦ ਦਾ ਐਲਾਨ

ਪੰਜਾਬ ਕਾਂਗਰਸ ਦੇ ਨਵਜੋਤ ਸਿੰਘ ਸਿੱਧੂ ਕਿਸਾਨਾਂ ਦੇ ਹੱਕ ‘ਚ ਸੜਕਾਂ ‘ਤੇ ਉਤਰਨਗੇ

PUBG की हो सकती है भारत में वापसी,डिस्ट्रिब्यूशन को लेकर रिलायंस जियो के साथ बातचीत

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ facebook page like ਅਤੇ twitter follow ਕਰੋਂ




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *