UNGA में PM Narendra Modi ने संबोधन किया और संयुक्त राष्ट्र की कार्यप्रणाली UNGA में PM Narendra Modi ने संबोधन किया और संयुक्त राष्ट्र की कार्यप्रणाली

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
UNGA में PM Narendra Modi ने संबोधन किया और संयुक्त राष्ट्र की कार्यप्रणाली में सुधारों की वकालत की

UNGA में PM Narendra Modi ने संबोधन किया और संयुक्त राष्ट्र की कार्यप्रणाली में सुधारों की वकालत की

67

AZAD SOCH :-

NEW DELHI :- प्रधानमंत्री Narendra Modi ने संयुक्त रास्ट्र महांसभा के 75 सैशन में महांसभा को संबोधन किया,corona virus वके महामारी के कारण, संयुक्त रास्ट्र महांसभा का आनलाइन आयोजन किया , प्रधानमंत्री Narendra Modi ने कहा कि संसार की भलाई के लिए संयुक्त राष्ट्र में स्थिरता और इस की मज़बूती बहुत ज़रूरी है।

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने सवाल किया कि ‘उस मुल्क को कितनी देर इन्तज़ार करनी पड़ेगी जिस में घट रही तबदीलियाँ संसार के बड़े हिस्से को प्रभावित कर रही हैं,प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, अगर सदी बदलती है और हम नहीं बदलते तो तबदीली लाने की ताकत कमज़ोर हो जाती है।

आज समूचे विशव भाईचारो के सामने एक बड़ा पर्सन है कि जिस संस्था का गठन उस समय के हालातों किया गया था,अतिवाद व्यंग्य कस्सदे हुए प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा, यह सही है कि कहने को तीसरा विशव युद्ध नहीं परपर इस बात से इन्कार नहीं किया जा सकता कि बहुत सी लड़ाई, कई घरेलू युद्ध हुए हैं।

यह भी पढ़े: – ਸ੍ਰੋਮਣੀ ਅਕਾਲੀ ਦਲ ਨੇ ਭਾਜਪਾ ਦੇ ਨਾਲ ਗੱਠਜੋੜ ਟੁੱਟਿਆ

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने कहा कि सलामती कौंसिल का 1945 में कायम ढांचा वर्तमान की वास्तविकता से दूर है और मौजूदा चुणौतियों के साथ पूर करने के समर्थ नहीं है, प्रधानमंत्री Narendra Modi ने कहा कि भारत अतिवाद, नाजायज हथियारों, ड्रग और मनी लांडरिंग जैसे मुद्दों को उठानो में कभी गुरेज़ नहीं करेगा।

भारत ने संयुक्त रास्ट्र की आम सभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की ‘लगातार शेखी मारने ’ और ‘ज़हर फैलाने ’ के लिए निंदा करते कहा है कि पिछले सात दशकों में पाकिस्तान की ‘बड़ी प्राप्तियों ’ में सिर्फ़ अतिवाद, अल्पसंख्यकों का ख़ात्मा, बहुसंख्यक कट्टड़वाद और प्रच्छन्न रूप में किये गैरकानून्नी परमाणु समझौते हैं।

इमरान ख़ान ने जनरल असेंबली में जम्मू कशमीर समेत भारत के अंदरूनी मामलों बारे बात की, जिस के बाद भारत ने अपने ‘जवाब देने के अधिकार ’ का प्रयोग कीया,जब ख़ान ने भारत पर ‘दोश मढ़ने वाली तकरीर ’ शुरू की तो संयुक्त रास्ट्र आम सभा के हाल में भारत की नुमायंदगी कर रहे विनीतो अपनी सीट से उठ कर चले गए।

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने कहा आतंकवादी हमलों ख़ून की नदियाँ बहतीं रही,इन युद्धों में , इन हमलो में, जो मारे गए, वह हमारे जैसे मनुष्य था,लाखों निरदोश बच्चों, जिन्होंने दुनिया में छा जाना था, इस दुनिया को छोड़ गए,कितने लोगों को अपनी ज़िंदगी की पूँजी गुआउनी पड़ी, उन को अपना सपनों का घर छोड़ना पड़ा।

यह भी पढ़े: –

रायजादा हंसराज स्टेडियम में बनेगा योगा एवं एरोबिक्स सेंटर,विधानसभा स्पीकर राणा केपी ने दिए 5 लाख रुपए

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ facebook page like ਅਤੇ twitter follow ਕਰੋਂ




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *