Babri Masjid के विवादत ढांचे के मामलो में अडवानी समेत सभी मुलजिम बरी Babri Masjid के विवादत ढांचे के मामलो में अडवानी समेत सभी मुलजिम बरी

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Babri Masjid के विवादत ढांचे के मामलो में अडवानी समेत सभी मुलजिम बरी

Babri Masjid के विवादत ढांचे के मामलो में अडवानी समेत सभी मुलजिम बरी

52

लखनऊ: Babri Masjid सीबीआई की विशेष अदालत ने 28 साल बाद फैसला सुनाया,लालकृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani)मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi) समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया है,मामले में कुल 49 आरोपी थे, जिनमें से 17 अभियुक्त पहले ही मर चुके हैं,अदालत ने आज इस केस के बाकी 32 मुख्य मुलजिमों को भी बरी कर दिया है.

इस केस के मुख्य मुलजिम भारतीय जनता पार्टी के सीनियर नेता लाल क्रिशन अडवानी, मुरलीमनोहर जोशी, उमा भारतीय, कल्याण सिंह, विनै कट्यार, राम विलास वेदांती, ब्रज भूशण सरन सिंह आदि हैं,इन के इलावा महंत नृत्या गोपाल दास, चंपत राय, साध्वी रितमभड़ा, महंत धरमदास भी मुख्य मुलजिम था.

फ़ैसला सुनाते हुए अदालत ने कहा कि इस केस में कोई भी ठोस सबूत नहीं है और यह घटना अचानक घटी थी,बावरी विध्वंस केस में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सत्यमेव जयते के अनुरूप सत्य की जीत हुई है.

यह भी पढ़ो:- ਸਿੱਖ ਜਥੇਬੰਦੀਆਂ ਨੇ ਸੁਖਬੀਰ ਸਿੰਘ ਬਾਦਲ ਨੂੰ ਵਿਖਾਈਆਂ ਕਾਲੀਆਂ ਝੰਡੀਆਂ

6 दिसंबर 1992 के दिन अयोध्या में विवादित बाबरी ढांचा ढहा दिया गया था,बाबरी विध्वंस केस (Babari Demolition Case) में आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, बाला साहेब ठाकरे, राम विलास वेदांती और उमा भारती समेत 49 आरोपी बनाए गए थे, इनमें से अब सिर्फ 32 आरोपी ही जीवित थे,बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी (Lalkrishna Advani) ने बाबरी विध्वंस केस में बरी होने के बाद प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आज का निर्णय अत्यंत महत्वपूर्ण है और हम सबके लिए खुशी का दिन है.

यह भी पढ़ो:-

Bigg Boss 14 के घर में राधे मां की एंट्री,VIDEO हो रहा VIRAL

ਪੰਜਾਬ ਦੇ ਮੁੱਖ ਮੰਤਰੀ ਕੈਪਟਨ ਅਮਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਨੇ ਕਿਹਾ ਕਿ ਖੇਤੀ ਕਾਨੂੰਨਾਂ ਖ਼ਿਲਾਫ਼ ਹਰ ਲੜਾਈ ਲੜਾਂਗੇ

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ facebook page like ਅਤੇ twitter follow ਕਰੋਂ




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *