पंजाब में गंभीर हुआ बिजली संकट, AZAD SOCH ਪੰਜਾਬੀ ਖਬਰਾਂ पंजाब में गंभीर हुआ बिजली संकट, AZAD SOCH ਪੰਜਾਬੀ ਖਬਰਾਂ
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
पंजाब में गंभीर हुआ बिजली संकट,

पंजाब में गंभीर हुआ बिजली संकट,

78

AZAD SOCH :-

PATIALA :- पंजाब (Punjab) में बिजली संकट (Power crisis) ओर गहरा हो गया और थरमलों में कोयला ख़त्म होने बाद में बिजली निगम ने बिजली काट लगाने शुरू कर दिए हैं,पंजाब (Punjab) में इस समय पर पाँच में से दो थर्मल प्लांटों में कोयला बिल्कुल ख़त्म हो गया है, तीसरे थर्मल पलांट में एक दिन का कोयला पड़ा है और इस के साथ ही Goindwal Sahib बिजली उत्पादन कर रहा है,सरकारी क्षेत्र के रोपड़ और लहरा मोहब्बत पलांटविच चाहे क्रमवार 6 और 4 दिन का कोयला पड़ा है,परन्तु वह ऐमरजंसी हालातों रखा गया है और दोनों पलांट बंद हैं।

यह भी पढ़ो:- ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਉਦਯੋਗਾਂ ਨੂੰ ਪ੍ਰਫੁੱਲਿਤ ਕਰਨ ਲਈ ਯਤਨਸ਼ੀਲ – Vini Mahajan


बिजली निगम इस समय पर बिजली की माँग पूरी करन के लिए 1500 मेगावाट बिजली की खरीद कर रहा है,इस समय पर पंजाब में बिजली की माँग पाँच हज़ार मेगावाट के करीब है,इस में से बहु संख्या बैंकिंग के द्वारा मिल रही है,अपने स्तर पर बिजली निगम रोज़मर्रा की करीब 13 से सौ मेगावाट बिजली पैदावार कर रेहाहै जिस में से पण बिजली प्रोजेक्टों और नव्याउणयोग ऊर्जा स्रोत प्रमुख हैं,बिजली निगम के थे एम डी ए वेनु प्रसाद का कहना है कि यदि तुरंत कोयला स्पलाई बहाल न हुई तो फिर नवंबर महीनो में गंभीर बिजली संकट का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ो:-

Punjab Cm Capt. Amarinder Singh ਵੱਲੋਂ ਬੱਸ ਆਪਰੇਟਰਾਂ ਲਈ 100 ਫੀਸਦੀ ਕਰ ਮੁਆਫੀ 31 ਦਸੰਬਰ ਤੱਕ ਵਧਾਈ ਗਈ,ਬਕਾਏ ਦੀ ਅਦਾਇਗੀ 31 ਮਾਰਚ ਤੱਕ ਅੱਗੇ ਪਾਈ

ਪੇਂਡੂ ਵਿਕਾਸ ਫੰਡ ਬਾਰੇ ਕੇਂਦਰ ਸਰਕਾਰ ਦਾ ਫੈਸਲਾ ਮੰਦਭਾਗਾ,ਅਜਿਹੀ ਕੋਈ ਰਵਾਇਤ ਨਹੀਂ-ਮੁੱਖ ਮੰਤਰੀ ਕੈਪਟਨ ਅਮਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ

Stock Tax ਦੇ ਮੁੱਦੇ ‘ਤੇ ਵਪਾਰੀਆਂ ਨੂੰ ਵੱਡੀ ਰਾਹਤ ਨਹੀਂ ਹੋਵੇਗੀ ਕੋਈ ਕਾਰਵਾਈ : Capt. Amarinder Singh

ਪਰਾਲੀ ਸਾੜਨ ਦਾ ਮਾਮਲੇ ਵਿੱਚ ਪ੍ਰਦੂਸ਼ਣ ਕੰਟਰੋਲ ਕਰਨ ਲਈ ਆਰਡੀਨੈਂਸ ਲਿਆਂਦਾ

ਸਿੱਖਿਆ ਵਿਭਾਗ ਵੱਲੋਂ ਦਿਵਿਆਂਗ ਕਰਮਚਾਰੀਆਂ ਨੂੰ Diksha App ਦੀ ਟ੍ਰੇਨਿਗ ਤੋਂ ਛੋਟ ਦੇਣ ਦਾ ਫੈਸਲਾ

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ facebook page like ਅਤੇ twitter follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *