Singhu Border पर आयोजित कीर्तन दरबार में शामिल हुए,दिल्ली के मुख्य मंत्री Arvind Singhu Border पर आयोजित कीर्तन दरबार में शामिल हुए,दिल्ली के मुख्य मंत्री Arvind
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Singh Border पर आयोजित कीर्तन दरबार में शामिल हुए ,दिल्ली के मुख्य मंत्री Arvind Kejriwal

Singhu Border पर आयोजित कीर्तन दरबार में शामिल हुए,दिल्ली के मुख्य मंत्री Arvind Kejriwal

55

AZAD SOCH :-

NEW DELHI,(AZAD SOCH NEWS):- Singhu Border : दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल यहाँ श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी (Guru Gobind Singh) के चार साहिबज़ादों और माता गुजरी जी की शहादत पर दिल्ली सरकार की पंजाब अकैडमी की तरफ से आयोजित प्रोगराम में शामिल होने के लिए गए हुए थे,दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने इतवार को सिंघू बार्डर (Singh Border) पर आयोजित कीर्तन दरबार में हिस्सा लिया,केजरीवाल ने आगे कहा, “फ़िलहाल केंद्र सरकार ने अपने सभी बड़े नेता मैदान में उतार दिए हैं।

यह भी पढ़ो:- छोटे साहिबज़ादे की शहादत को याद करते शब्द कीर्तन में शामिल हुए CM Yogi Adityanath

उन के सभी मंत्री और मुख्य मंत्री Arvind Kejriwal मैदान में आ कर भाशण दे रहे हैं कि किसानों को इस कानून का लाभ हुआ है,मैं उन के सभी भाशण सुने हैं, मुझे उन में से एक भी नेता नहीं मिला, जो यह बता सगे कि इस कानून के साथ किसानों को क्या फ़ायदा होगा,गुग्गल और यू -ट्यूब पर जा कर आपको भी सुनना चाहिए, क्योंकि यह बहुत सी बड़े नेता आते हैं, वह सभी कहते हैं कि किसानों की ज़मीन नहीं जायेगी।

यह भी पढ़ो:- ਪੰਜਾਬ ਦੇ ਮੁੱਖ ਮੰਤਰੀ ਕੈਪਟਨ ਅਮਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਨੇ ਭਾਰਤੀ ਜਨਤਾ ਪਾਰਟੀ ਦੇ ਸੀਨੀਅਰ ਲੀਡਰਾਂ ਵੱਲੋਂ ਸੰਘਰਸ਼ਸ਼ੀਲ ਕਿਸਾਨਾਂ ਖਿਲਾਫ਼ ਅਪਮਾਨਜਨਕ ਭਾਸ਼ਾ ਵਰਤਣ ਦੀ ਸਖ਼ਤ ਸ਼ਬਦਾਂ ਵਿੱਚ ਨਿਖੇਧੀ ਕੀਤੀ ਹੈ

यह कोई फ़ायदा हुआ? आज भी यह ज़मीन किसानों के पास है,”केजरीवाल ने कहा कि इस प्लेटफार्म के ज़रिये इतने पवित्र स्थान से पवित्र मौके पर आज मैं हाथ जोड़ कर केंद्र सरकार से अपील करता हैं कि वह अपने ही लोग, भाई, बहनों और बुज़ुर्ग हैं,इन की माँगों पुरी करते तीन काले कानूनों को वापस लिया जाये,अब इन लोगों के संघरश को यहाँ ही ख़त्म करो।

यह भी पढ़ो:-Sanjay Raut की पत्नी Versa Raut को ED ने भेजा नोटिस,29 दिसंबर को पूछताछ के लिए बुलाया

आप ओर कितनी शहादत लेना चाहते हो?जो किोड़ों किसानों को नुक्सान पहुँचा कर पूंजीपतियें को फ़ायदा पहुंचाउना चाहते हैं और दूसरे वह जो किोड़ों किसानों के साथ ठहरे हैं,मैं भाजपा की केंद्र सरकार को चुनौती देता हैं कि वह तीनों बिलों पर खुली बहस करवावे, जिससे बिल की सच्चाई सभी देश के सामने आए।

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ facebook page like ਅਤੇ twitter follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *