Delhi में हिंसा के बाद 15 FIR दर्ज, Para Military Force की 15 अतिरिक्त कंपनियां Delhi में हिंसा के बाद 15 FIR दर्ज, Para Military Force की 15 अतिरिक्त कंपनियां
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Delhi में हिंसा के बाद 15 FIR दर्ज, Para Military Force की 15 अतिरिक्त कंपनियां होंगी तैनात

Delhi में हिंसा के बाद 15 FIR दर्ज, Para Military Force की 15 अतिरिक्त कंपनियां होंगी तैनात

9

AZAD SOCH:-

NEW DELHI,(AZAD SOCH NEWS):- Delhi में हिंसा के बाद 15 FIR दर्ज, Para Military Force की 15 अतिरिक्त कंपनियां होंगी तैनात : कृषि कानूनों (Agriculture Laws) का विरोध कर रहे किसानों का एक समूह ट्रैक्टरों के साथ लाल किला पहुंच गया और उस स्तंभ पर एक धार्मिक झंडा लगा दिया, जहां 15 अगस्त को प्रधानमंत्री भारत का तिरंगा फहराते हैं,दिल्ली हिंसा मामले में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने आज (बुधवार) को उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है,गृह सचिव और IB के निदेशक भी बैठक में मौजूद रहेंगे,गृह मंत्री अमित शाह आज (बुधवार) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात कर सकते हैं.

मंगलवार को हुई गृह मंत्रालय की बैठक में दिल्ली में पैरा मिलिट्री फोर्स की 15 अतिरिक्त कंपनियां तैनात करने का फैसला किया गया थाअलग-अलग जिलों में अब तक कुल 15 मामले दर्ज किए गए हैं, जिसमें से ईस्टर्न रेंज में कुल 5, नजफगढ़, हरिदास नगर, उत्तम नगर में एक-एक एफआईआर (FIR) दर्ज की गई हैं,अज्ञात लोगों के खिलाफ अलग अलग धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई है,आरोपियों की पहचान का काम जारी है.

CRPF की 15 कंपनियां दिल्ली और सीमावर्ती इलाकों में तैनात,गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला

और पुलिस हिंसा के वीडियो फुटेज की मदद ले रही है,दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (Delhi Metro Rail Corporation) ने बताया है कि लाल किला मेट्रो स्टेशन (Metro Station) पर प्रवेश द्वार बंद हैं, हालांकि इस स्टेशन से बाहर निकलने की अनुमति है,दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) के अन्य सभी स्टेशन खुले हैं और सभी लाइनों पर सामान्य सेवाएं चल रही हैं.

दिल्ली में हुई हिंसा के बाद संयुक्त किसान मोर्चा (United Peasant Front) की आज (बुधवार) दोपहर 2 बजे बैठक होगी,बैठक में 26 जनवरी को हुई हिंसा पर की चर्चा की जाएगी और 1 फरवरी के संसद घेराव कार्यक्रम पर भी फैसला लिया जाएगा,मंगलवार के बवाल के बाद गृह मंत्रालय ने दिल्ली के कुछ इलाकों में इंटरनेट बंद करवाया.

Rakesh Tikait का बड़ा,बयान राजनीतिक दल के लोग हैं जिन्होंने किसान आंदोलन में हिंसा का कारण बना

उसके बाद पुलिस ने भी आंदोलनकारियों पर एक्शन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया,आज सुबह करीब नौ बजे किसान नेता फिर चर्चा करेंगे और आंदोलन की आगे की रूप-रेखा तय होगी. बीती रात को ही काफी प्रदर्शनकारी अपने पुराने धरना स्थल पर लौट आए, गाजीपुर बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर पर देर रात को फिर प्रदर्शनकारियों का जमावड़ा हुआ.

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ Facebook Page Like ਅਤੇ Twitter Follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *