Violence During Tractor Parade: दिल्ली पुलिस ने 22 केस दर्ज किये,200 व्यक्ति Violence During Tractor Parade: दिल्ली पुलिस ने 22 केस दर्ज किये,200 व्यक्ति
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Violence During Tractor Parade दिल्ली पुलिस ने 22 केस दर्ज किये,200 व्यक्ति हिरासत में लिए

Violence During Tractor Parade: दिल्ली पुलिस ने 22 केस दर्ज किये,200 व्यक्ति हिरासत में लिए

9

AZAD SOCH:-

NEW DELHI,(AZAD SOCH NEWS):- Violence During Tractor Parade: दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) दौरान हुई हिंसा के मामलो में अब तक 22 केस दर्ज किये हैं,इन में कई किसान नेताओं के नाम भी हैं,मीडिया मुताबिक अब तक 200 व्यक्तियों को हिरासत में ले लिया गया है और कुछ देर बाद इन को गिरफ़्तार कर लिया जायेगा,बुद्धवार को यह जानकारी देते हुए,आधिकारियों ने बताया कि हिंसा में 300 से अधिक पुलिस मुलाज़ीम ज़ख़्मी हुए हैं।

यह भी पढ़े:- किसानों का खुलासा,Deep Sidhu-Lakha Sidhana के कहने पर लाल किला पहुंचे थे

अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को हिंसा में शामल किसानों की पहचान करन के लिए कई सीसीटीवी फुटेज और अलग अलग वीडीओज़ को जाँच पड़ताला जा रहा है,और दोशियें ख़िलाफ़ सख़्त कार्यवाही की जायेगी,इस दौरान राजधानी में कई स्थानों पर सुरक्षा मज़बूत कर दी गई है,लाला किले और किसानों के प्रदरशन वाले स्थानों पर नीम फ़ौजी दस्ते तैनात कर दिए गए हैं,SHO वजीराबाद भी गंभीर रूप से घायल है।

यह भी पढ़े:- Delhi में हिंसा के बाद 15 FIR दर्ज, Para Military Force की 15 अतिरिक्त कंपनियां होंगी तैनात

वो अस्पताल में भर्ती है और उनकी उंगलियों का ऑपरेशन किया जा रहा है,डीसीपी नॉर्थ के स्टाफ ऑफिसर को भी चोट लगी है,इस हिंसा में 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए है.धारा 395, धारा 397,धारा 120b जैसी गंभीर आपराधिक धाराएं भी शामिल की गई हैं,आरोप के मुताबिक लाल किले के अंदर आपराधिक साजिश के तहत डकैती डाली गई और वहां से कुछ सामान भी ले जाया गया।

यह भी पढ़े:-

Rakesh Tikait का बड़ा,बयान राजनीतिक दल के लोग हैं जिन्होंने किसान आंदोलन में हिंसा का कारण बना

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ Facebook Page Like ਅਤੇ Twitter Follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *