Himachal Pradesh फिर से दिखने लगी पर्यटन की उम्मीद,Curfew में ढील के बाद Himachal Pradesh फिर से दिखने लगी पर्यटन की उम्मीद,Curfew में ढील के बाद
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Himachal Pradesh Curfew

Himachal Pradesh:-फिर से दिखने लगी पर्यटन की उम्मीद,Curfew में ढील के बाद कुछ हद तक सैलानी शहर के पर्यटन स्थलों पर दिखने लगे

6

AZAD SOCH:-

Shimla,(AZAD SOCH NEWS):- Himachal Pradesh: Corona Virus की दूसरी लहर को खत्म करने के लिए राज्य सरकार ने 20 से ज्यादा दिन का कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) लगाया,इस दौरान सैलानियों के हिमाचल में आने पर कोई रोक नहीं थी,लेकिन टेस्ट से लेकर अन्य कई प्रतिबंध लागू थे,ऐसे में सैलानियों की संख्या न के बराबर थी,होटल खुलते तो थे,लेकिन सैलानी नहीं थे,अब कफ्र्यू (Curfew) में ढील के बाद कुछ हद तक सैलानी शहर के पर्यटन स्थलों पर दिखने लगे हैं,रिज से लेकर माल रोड पर सेल्फी लेते हुए सैलानी फिर से दिख रहे हैं।

सरकार पर्यटन से जुड़े कारोबारियों को राहत देने पर विचार कर रही है,इसके लिए राज्य पर्यटन विभाग (Department of Tourism) की ओर से पूरा प्रस्ताव तैयार किया गया है,इस पर शनिवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक में चर्चा के लिए लाया जाना है,कैबिनेट (Cabinet) में इस पर सहमति बनते ही आने वाले दिनों में होटल से लेकर पर्यटन से जुड़े हर कारोबारियों को राहत मिल सकती है,इसमें ब्याज में छूट से लेकर अन्य राहतें देने की तैयारी पर्यटन विभाग (Department of Tourism) ने लगभग पूरी कर ली है।

हालांकि इनकी संख्या न के बराबर है, लेकिन उम्मीद इन्हें देखते हुए पर्यटन से जुड़े हर छोटे व बड़े कारोबारी को दिख रही है,शहर में मई व जून में पर्यटन सीजन पीक पर रहता है, ऐसे में होटल से लेकर अन्य सभी कारोबारियों को दूसरे साल बड़ा झटका है,अब कफ्र्यू (Curfew) में मिली ढील के बाद होटल कारोबारियों (Hoteliers) की नजरें शनिवार को होने वाली कैबिनेट (Cabinet) की बैठक पर लगी हैं,इसमें यदि होटल कारोबारियों को बड़ी छूट देने पर सहमति बनती है तो होटल कारोबारियों (Hoteliers) को राहत मिल सकती है।

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ Facebook Page Like ਅਤੇ Twitter Follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *