सोने के गहनों के लिए नए नियम,गोल्ड हॉलमार्किंग अनिवार्य कर दी गई सोने के गहनों के लिए नए नियम,गोल्ड हॉलमार्किंग अनिवार्य कर दी गई
BREAKING NEWS
Search

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
सोने के गहनों के लिए नए नियम,गोल्ड हॉलमार्किंग अनिवार्य कर दी गई

सोने के गहनों के लिए नए नियम,गोल्ड हॉलमार्किंग अनिवार्य कर दी गई

3

AZAD SOCH:-

NEW DELHI,(AZAD SOCH NEWS):- अगर आप सोना खरीदने जा रहे हैं तो यह आपके लिए अहम खबर है,आज यानी 15 जून से गोल्ड हॉलमार्किंग अनिवार्य (Gold Hallmarking Mandatory) कर दी गई है,ऐसे में अगर आप शॉपिंग करने जा रहे हैं तो पहले से नियमों को जान लेना जरूरी है,केंद्र सरकार ने सोने के गहनों पर बीआईएस हॉलमार्किंग अनिवार्य (BIS Hallmarking Mandatory) कर दी है,15 जून से सभी गहनों को केवल बीआईएस प्रमाणित गहनों (BIS Certified Jewelry) की ही बिक्री करनी होगी,कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते इसे लागू करने की तारीखों को टाल दिया गया है।

ALSO READ:- आज से मिलेगी सिर्फ शुद्ध गोल्ड ज्वेलरी! Gold Hallmarking लागू

आइए जानें कि हॉलमार्किंग अनिवार्य (Hallmarking Mandatory) होने पर सोने के बाजार का क्या होगा और देश में हॉलमार्किंग (Hallmarking) से जुड़े क्या नियम हैं,आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने कहा है कि गोल्ड हॉलमार्किंग (Gold Hallmarking) के तहत देश के सभी गोल्ड ट्रेडर्स (Gold Traders) को गोल्ड ज्वैलरी या आर्टवर्क (Gold Jewelery Or Artwork) बेचने के लिए बीआईएस (BIS) के मानदंडों को पूरा करना चाहिए, जो भी व्यापारी इन मानदंडों को पूरा करता है, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

हॉलमार्किंग क्या है?

हॉलमार्किंग सोने, चांदी और प्लेटिनम जैसी धातुओं की शुद्धता को सत्यापित करने का एक तरीका है,यह अंत करने का एक साधन है,हॉलमार्किंग देश भर के हॉलमार्किंग केंद्रों पर की जाती है, जिनकी निगरानी भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) (Bureau of Indian Standards (BIS)) द्वारा की जाती है,यदि कोई व्यक्ति सरकार द्वारा जारी नियमों का पालन नहीं करता है, तो उसे बीआईएस (BIS) अधिनियम, 2016 की धारा 29 के तहत एक वर्ष तक की कैद या 1 लाख रुपये से अधिक का जुर्माना हो सकता है।


कितने कैरेट सोने की हॉलमार्किंग होगी?

आपको बता दें कि 14 कैरेट, 18 कैरेट और 22 कैरेट शुद्धता वाले सोने की हॉलमार्किंग (Hallmarking) होगी।

घर में रखे सोने का क्या होगा?

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपके घर में सोने का क्या होगा,अगर आपके मन में यह सवाल आता है तो जान लें कि हॉलमार्किंग (Hallmarking) का यह नियम सोने के गहने बेचने वाले ज्वैलर्स पर लागू होगा,ग्राहक अपने गहने बिना किसी निशान के बेच सकते हैं।

इस नियम का क्या फायदा?

सरकार के इस कदम से सोने की शुद्धता को आसानी से साबित किया जा सकता है,इसका प्रमाण हस्तशिल्प सोने के बाजार को भी बढ़ावा देगा,साथ ही ज्वैलरी उद्योग (Jewelery Industry) भी बढ़ेगा,वर्तमान में, देश भर के 234 जिलों में 892 हॉलमार्किंग केंद्र (Hallmarking Center) हैं, जिनमें 28,849 बीआईएस पंजीकृत आभूषणों (BIS Registered Jewelery) की हॉलमार्किंग (Hallmarking) है,हालांकि अब यह संख्या और बढ़ने की उम्मीद है।

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ Facebook Page Like ਅਤੇ Twitter Follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *