Increased GST Rates सरकार ने आम आदमी को बड़ा झटका,बढ़ाई GST दरें Increased GST Rates सरकार ने आम आदमी को बड़ा झटका,बढ़ाई GST दरें
BREAKING NEWS
Search
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
सरकार ने आम आदमी को बड़ा झटका,बढ़ाई GST दरें

सरकार ने आम आदमी को बड़ा झटका,बढ़ाई GST दरें, जनवरी 2022 से महंगे होंगे कपड़े,जूते-चप्पल

0

AZAD SOCH:-

NEW DELHI,(AZAD SOCH NEWS):- वाले नए साल 2022 में सरकार ने आम आदमी को बड़ा झटका दिया है,अब से आपको कपड़े, जूते और टेक्सटाइल (Textile) पर ज्यादा पैसा खर्च करना होगा क्योंकि केंद्र सरकार ने इन सभी वस्तुओं पर जीएसटी (GST) लगाया है,इसका मतलब है कि अब आपको कपड़े और जूते खरीदने के लिए अपनी जेब ढीली करनी होगी,ज्ञात हो कि पहले सरकार इन वस्तुओं पर 5 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगाती थी, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया है,नई जीएसटी दरें (New GST Rates) जनवरी 2022 से प्रभावी होंगी,केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीआईटी) (Central Board of Direct Taxes (CBIT)) ने इस संबंध में एक अधिसूचना जारी की है।

ALSO READ:- बैन से पहले Crypto Currency में आई भारी गिरावट, इतनी नीचे पहुंच गई Bitcoin की कीमत

लंबे समय से संभावना जताई जा रही है कि सरकार रेडीमेड (Government Readymade) और टेक्सटाइल (Textile) पर जीएसटी (GST) बढ़ा सकती है,और अब एक अधिसूचना जारी की गई है,जिसके बाद कपड़े और जूते और महंगे हो जाएंगे,अब किसी भी कीमत के किसी भी परिधान पर 12 फीसदी की दर से जीएसटी (GST) लगेगा,पहले 1,000 रुपये तक के कपड़ों पर 5 फीसदी जीएसटी (GST) लगता था,लेकिन अब 12 फीसदी की दर से जीएसटी (GST) लगेगा,साथ ही धागे पर 12 फीसदी जीएसटी (GST) लगेगा, जिससे कपड़े और महंगे हो जाएंगे।

ALSO READ:- Petrol,Diesel जल्द होगा सस्ता,दुनिया भर के देश ईंधन की कीमतों को कम करने पर विचार

इसके अलावा, सभी बुने हुए Threads, Synthetic Yarns,Blankets, Tents, Table Cloths, Rugs, Towels, Handkerchiefs, Rugs, Napkins और Blanket पर 12 प्रतिशत की दर लागू होगी,वहीं, फुटवियर (Footwear) पर जीएसटी (GST) की दरों में बढ़ोतरी की गई है,क्लॉदिंग मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (Clothing Manufacturers Association of India)( CMAI) सरकार के इस कदम का विरोध कर रहा है,संगठन का कहना है कि देश में महामारी का असर अभी कम नहीं हुआ है,सरकार ने अभी तक कारोबार में कोई उछाल नहीं देखा है, जैसा कि पूर्व में सरकार ने जीएसटी दरों (GST Rates) में वृद्धि की है।

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ Facebook Page Like ਅਤੇ Twitter Follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *