UK में Omicron Variants से पहली मौत, अप्रैल तक 75,000 मौतों की आशंका UK में Omicron Variants से पहली मौत, अप्रैल तक 75,000 मौतों की आशंका
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
First death from Omicron variants in UK, 75,000 deaths expected by April

UK में Omicron Variants से पहली मौत,अप्रैल तक 75,000 मौतों की आशंका

1

AZAD SOCH:-

UK,(AZAD SOCH NEWS):- ओमाइक्रोन (Omicron Variants) पर नया शोध चिंता बढ़ाता है यूके और दक्षिण अफ्रीका (UK And South Africa) के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए अध्ययन में दावा किया गया है कि अगर सावधानी नहीं बरती गई तो अप्रैल तक यूके (UK) में 25,000 से 75,000 मौतें हो सकती हैं,ब्रिटेन (Britain) पहले से ही कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों से जूझ रहा है,वृद्धि के बाद, प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन (Prime Minister Boris Johnson) ने दिसंबर के अंत तक 18 आबादी को बूस्टर खुराक देने का लक्ष्य रखते हुए रविवार को राष्ट्र को संबोधित किया।

जानिए, स्टडी में और क्या कहा कोरोना को लेकर भारत में क्या है कोरोना की स्थिति?

अध्ययन लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन (Study London School of Hygiene and Tropical Medicine) और स्टेलनबोश विश्वविद्यालय (Stellenbosch University) के शोधकर्ताओं द्वारा किया गया था,एक जोखिम है कि टीका ओमाइक्रोन (Vaccine Omicron) के खिलाफ अप्रभावी होगा और यह अभी तक ज्ञात नहीं है कि बूस्टर खुराक कितनी प्रभावी होगी,शोधकर्ताओं ने मूल्यांकन किया है कि कैसे ओमाइक्रोन (Omicron) इन दो मानदंडों के आधार पर विभिन्न स्थितियों में नए मामलों और मौतों की संख्या को बढ़ा सकता है।

शोधकर्ताओं ने अध्ययन के लिए 4 अलग-अलग स्थितियों को परिभाषित किया है:

-जब वैक्सीन और बूस्टर डोज दोनों ही ओमेक्रोन पर सबसे ज्यादा असरदार हों।
-जब वैक्सीन ओमेक्रोन से ज्यादा असरदार हो, लेकिन बूस्टर डोज कम हो।
-जब वैक्सीन ओमाइक्रोन पर कम असरदार हो, लेकिन बूस्टर डोज ज्यादा हो।
-जब वैक्सीन और बूस्टर डोज दोनों ही ओमाइक्रोन पर अप्रभावी हों।
इन चार मापदंडों के आधार पर हुई स्टडी में ये बातें सामने आई हैं।

सबसे अच्छी स्थिति में, हालांकि टीका ओमेक्रोन (Omekron) के खिलाफ प्रभावी है और बूस्टर खुराक भी प्रभावी है, इस साल जनवरी की तुलना में अस्पताल में भर्ती होने की दर 60% तक बढ़ सकती है,फिर हर दिन करीब 3570 मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ता है,सबसे खराब स्थिति में, यानी जब ओमेक्रोन (Omekron) पर टीका प्रभावी नहीं है और बूस्टर खुराक प्रभावी नहीं है, तो हर दिन 7100 से अधिक नए मामले सामने आ सकते हैं।

जबकि टीका ओमेक्रोन (Vaccine Omecron) पर अधिक प्रभावी है, लेकिन बूस्टर खुराक कम है, प्रतिदिन 4,350 लोग अस्पताल में भर्ती होते हैं,जब ओमिक्रॉन पर टीका कम प्रभावी होता है, लेकिन बूस्टर खुराक अधिक होती है, तो लगभग 4,500 लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता हो सकती है,यदि अतिरिक्त सावधानी नहीं बरती गई, तो अप्रैल 2022 तक यूके में ओमाइक्रोन 25 से 75,000 लोगों की मौत का कारण बन सकता है।

यूके और यूरोपीय देशों में मामले कैसे बढ़ रहे हैं?

कोरोना के नए मामले को लेकर ब्रिटेन समेत कई यूरोपीय देश चिंतित हैं,आज तक, यूके में ओमाइक्रोन (Omekron) को 3,000 से अधिक मामले प्राप्त हुए हैं,यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) ने रविवार को कोरोना का अलर्ट लेवल 3 से बढ़ाकर 4 कर दिया,अलर्ट लेवल 4 का मतलब है कि कोरोना ट्रांसमिशन ज्यादा है, जिसका सीधा असर स्वास्थ्य सेवाओं पर पड़ रहा है,इससे पहले मई में लेवल 4 का अलर्ट जारी किया गया था।

ब्रिटेन में स्वास्थ्य विशेषज्ञों (Health Experts In The UK) ने चेतावनी दी है कि अगर हालात ऐसे ही बढ़ते रहे तो स्वास्थ्य सेवाएं घुटनों पर आ जाएंगी,कोरोना ने ब्रिटेन में आम बीमारियों के इलाज के लिए 50 लाख से ज्यादा लोगों को इंतजार करना पड़ा है,बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Prime Minister Boris Johnson) ने दिसंबर के अंत तक 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को बूस्टर डोज देने का लक्ष्य रखा है,पहले लक्ष्य जनवरी था।

यूके के अलावा किन यूरोपीय देशों में मामले बढ़ रहे हैं?

दुनियाभर में पाए जाने वाले हर 100 नए मामलों में से करीब 64 मामले अकेले यूरोप से सामने आ रहे हैं,हर 3 दिन में करीब 10 लाख नए मामले सामने आ रहे हैं!Monaco, Finland, France और Denmark समेत सात यूरोपीय देशों में सबसे ज्यादा नए मामले सामने आए हैं,नए कोरोना मामलों का सात दिन का औसत यूरोप में भी अपने चरम पर पहुंच गया है।

फ्रांस में प्रतिदिन 48,000 से अधिक नए मामले दर्ज हो रहे हैं,पिछले साल 7 नवंबर के बाद यह सबसे ज्यादा मामले हैं,नए मामलों के साथ पोलैंड में मौत का आंकड़ा बढ़ गया है,पिछले 3 हफ्तों से हर दिन औसतन 120 से ज्यादा मौतें हुई हैं,हर दिन औसतन 22,000 नए मामले सामने आ रहे हैं, जो अप्रैल के बाद सबसे ज्यादा है।

जर्मनी में नवंबर के आखिरी हफ्ते से मामलों में कमी आ रही है. नवंबर के अंतिम सप्ताह में, मामलों की औसत दैनिक संख्या 58,000 थी, जो घटकर लगभग 50,000 हो गई है,हालांकि मामलों की रफ्तार अब भी सबसे ज्यादा है।

भारत का क्या हाल है?

भारत में अब तक ओमाइक्रोन वेरिएंट (Omicron Variant) के 38 मामले सामने आ चुके हैं,रविवार को पांच राज्यों में पांच नए मामले सामने आए,केरल के कोच्चि में ओमाइक्रोन (Omekron) का पहला मामला सामने आया था,केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज (Kerala Health Minister Veena George) ने कहा कि संक्रमित व्यक्ति छह दिसंबर को ब्रिटेन से कोच्चि लौटा था।

उन्होंने 8 दिसंबर को सकारात्मक परीक्षण किया,उनकी पत्नी और मां की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है,ओमाइक्रोन के पहले मामले की पुष्टि नागपुर, महाराष्ट्र (Confirmation Nagpur, Maharashtra) और तीसरे मामले की कर्नाटक में हुई है,चंडीगढ़ (Chandigarh) और आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में भी नए ओमाइक्रोन संक्रमण (New Omicron Infection) की पहचान की गई है,भारत में रविवार को कुल 7,350 नए मामले सामने आए,यह शनिवार को मिले मामलों से 5.45% कम है!फिलहाल Kerala, Maharashtra, Tamil Nadu, West Bengal और Karnataka में सबसे ज्यादा मामले हैं।

ਕਾਂਗਰਸ ਵਲੋਂ ਪੰਜਾਬ ਚੋਣ ਪੈਨਲ ਦਾ ਗਠਨ,ਨਵਜੋਤ ਸਿੰਘ ਸਿੱਧੂ ਨੂੰ ਸੌਂਪੀ ਵੱਡੀ ਜ਼ਿੰਮੇਵਾਰੀ

AZAD SOCH :- E-PAPER

ਹੋਰ ਵਧੇਰੇ ਖ਼ਬਰਾਂ ਅਤੇ update ਲਈ Facebook Page Like ਅਤੇ Twitter Follow




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *