Government of Haryana ने Backward Class के आरक्षण नियमों में किया बदलाव Government of Haryana ने Backward Class के आरक्षण नियमों में किया बदलाव
BREAKING NEWS
Search
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

Live Clock Date

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
The Government of Haryana has changed the reservation rules of Backward Class, now these people will not get the benefit

Government of Haryana ने Backward Class के आरक्षण नियमों में किया बदलाव,अब इन लोगों को नहीं मिलेगा फायदा

7

AZAD SOCH:-

Panchkula,(AZAD SOCH NEWS):- हरियाणा सरकार ने पिछड़ा वर्ग के लोगों (Backward Class People) के लिए सरकारी नौकरी और शिक्षा संस्थानों (Government Jobs And Educational Institutions) में दाखिलों के लिए मिलने वाले आरक्षण (BC Reservation in Haryana) की व्यवस्था में बड़ा बदलाव किया है,राज्‍य में अब संवैधानिक अथवा उनके समकक्ष पदों पर काम करने वाले पिछड़े वर्ग के लोगों (सांसद, मंत्री अथवा विधायक) के बच्चों को आरक्षण का लाभ नहीं दिया जाएगा.

वहीं, हरियाणा सरकार के अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग कल्याण विभाग (Backward Classes Welfare Department) ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है,यह अधिसूचना आरक्षण अधिनियम 2016 में संशोधन करते हुए जारी की गई, ताकि पिछड़े वर्ग से नवोन्नत व्यक्तियों को आरक्षण के लाभ के दायरे से अलग कर दिया जाए.

बता दें कि हरियाणा सरकार ने नए सिरे से क्रीमीलेयर तय की है,केंद्र सरकार ने आठ लाख रुपये से कम वार्षिक आय वालों को आर्थिक रूप से कमजोर की श्रेणी में रखा है! वहीं, हरियाणा ने क्रीमीलेयर (Creamylayer) में वार्षिक आय सीमा घटाकर छह लाख रुपये कर दी है,इसमें सभी स्रोतों से प्राप्त आय को सकल वार्षिक आय की गणना करने के लिए जोड़ा जाएगा,यह परिवर्तन पिछड़ा वर्ग (Change Backward Classes) के लिए किया गया है,अब साफ है कि छह लाख रुपये से अधिक वार्षिक आय होने पर पिछड़ा वर्ग को हरियाणा में आरक्षण नहीं मिलेगा.

इस वजह से सरकार ने उठाया कदम


राज्‍य में अब संवैधानिक अथवा उनके समकक्ष पदों (सांसद, मंत्री अथवा विधायक) पर काम करने वाले पिछड़े वर्ग के लोगों के बच्चों को आरक्षण का लाभ नहीं देने के पीछे हरियाणा सरकार (Government of Haryana) की सोच यह भी है कि ऐसा करने से पहले से साधन संपन्न लोग सरकार की इस सुविधा का लाभ नहीं लेंगे और उनके स्थान पर पिछड़े वर्ग के वास्तविक जरूरतमंद लोगों को इसका फायदा मिल सकेगा,जबकि इस श्रेणी में सरकार की ओर से 27 फीसदी आरक्षण का लाभ दिया जाता है.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *